Saturday, 25th March, 2017
चलते चलते

सीमा पर तैनात जवानों ने की अजीब मांग- "रक्षा बंधन की तरह करवाचौथ और वेलेंटाइन डे पर भी हमारा ध्यान रखें पीएम"

11, Aug 2016 By बगुला भगत

नयी दिल्ली/सियाचिन/वाघा बॉर्डर. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देश पर कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी 18 अगस्त को सियाचिन में जवानों को राखी बांधने जा रही हैं। उनके अलावा सुषमा स्वराज, मेनका गांधी, उमा भारती, निर्मला सीतारमण और साध्वी निरंजन ज्योति भी बॉर्डर पर जाकर जवानों को राखी बांधेंगी।

Jawan5
जवानों की मांग सुनकर सोच में पड़े रक्षा मंत्री पर्रिकर

सरकार को उम्मीद थी कि इस बात से जवान ख़ुश हो जायेंगे लेकिन जवानों ने तो उल्टे सरकार को मुश्किल में डाल दिया। अब वे मांग कर रहे हैं कि “जिस तरह प्रधानमंत्री जी राखी पर हमारा ध्यान रख रहे हैं, उसी तरह करवाचौथ और वेलेंटाइन डे पर भी रखें। उस दिन भी किसी को छलनी और फूल लेकर हमारे पास भेजें।”

सियाचिन में तैनात एक जवान ने नाम ना छापने की शर्त पर कहा कि “बहुत अच्छी बात है कि वो राखी बंधवा रहे हैं और हम मना भी नहीं कर रहे। एक की जगह चार-चार बांधो। लेकिन वेलेंटाइन डे वगैरह पे भी तो हमारा ध्यान रखो!”

“हम सिर्फ़ भाई नहीं है भाईसाब, कुछ और भी हैं। किसी भी जवान से पूछ कर देख लो कि माइनस 50 डिग्री टेंपरेचर पर पे उसे बहन ज़्यादा याद आती है या कोई और!” -एक दूसरे जवान ने हथेलियों को रगड़ते हुए कहा।

उधर, जवानों की इस मांग से रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर बेहद नाराज़ हैं। उन्होंने कहा है कि “ऐसे सभी जवानों को सबक सिखाने की ज़रूरत है। जिस जवान को वेलेंटाइन डे पर भी कोई चाहिये, वो बॉर्डर पार करके पाकिस्तान चला जाये, ज़्यादा दूर नहीं है।” इसके अलावा, उन्होंने जवानों को साफ़ साफ़ बोल दिया है कि कोई भी जवान स्मृति जी को ‘डियर सिस्टर’ या ‘डियर मिनिस्टर’ कहकर संबोधित नहीं करेगा।



ऐसी अन्य ख़बरें