Monday, 18th December, 2017

चलते चलते

तेजस्वी के मूँछ वाले बयान पर जडे़जा की सफ़ाई- "टीम में बने रहने के लिए नहीं किया घोटाला"

13, Jul 2017 By Ritesh Sinha

मुंबई. बिहार के उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने भ्रष्टाचार के आरोपों पर जब कहा कि “भ्रष्टाचार करने के लिए दाढ़ी-मूँछ का होना जरूरी है। जिसकी मूँछ ही नहीं आई, वो भ्रष्टाचार कैसे कर सकता है?” तो सारे मूँछ-जगत में हड़कंप मच गया। तेजस्वी के इस बयान के बाद अचानक से पब्लिक का ध्यान उन लोगों की तरफ़ गया, जो अपनी मूँछों के दम पर लगातार भ्रष्टाचार कर रहे हैं।

jadeja moustache1
करप्शन और मूँछों का नज़दीकी रिश्ता है

इनमें सबसे पहला नाम है- रविन्द्र जडे़जा का। अजीत डोवाल के अलावा, ये किसी को नहीं पता कि सर जडे़जा आज तक टीम इंडिया में कैसे बने हुए हैं? घटिया खेल के बावजूद उनके सलेक्शन को देखते हुए तेजस्वी का बयान बिल्कुल सच लगने लगता है। जड़ेजा की बड़ी-बड़ी मूँछें हैं, इसका मतलब उन्हें भ्रष्टाचार भी अच्छे से करना आता होगा। यानि सलेक्टर्स को खिला-पिलाकर ही वो टीम में अपनी रोटियाँ सेक रहे हैं।

इस बारे में फे़किंग न्यूज़ ने जडे़जा से विशेष बातचीत की। “क्या ये मूँछों वाली बात सच है?” ऐसा पूछे जाने पर उन्होंने मूँछों पर ताव देते हुए कहा कि “देखो! मेरी मूँछों का मेरे सलेक्शन से कोई लेना-देना नहीं है। सलेक्शन के लिये मैंने कोई भ्रष्टाचार किया। और मुझसे क्या पूछते हो? जाकर सलेक्टर्स से पूछो ना, कि उन्होंने अब तक मुझे बाहर का रास्ता क्यों नहीं दिखाया! बात करते हैं!”

अब दूसरा नंबर आता है, शिखर धवन का। हालाँकि, आजकल ‘शिखर’ अच्छा खेल रहे हैं, लेकिन माना जा रहा है कि वो भी अपनी मूँछों की वजह से ही टीम से बाहर नहीं हुए। उन्हें बार-बार चांस मिलता गया और बिना मूँछों वाले गौतम गंभीर हाथ मलते रह गए। हालाँकि, धवन ने भी इस ‘गंभीर’ आरोप से इनकार किया है।

अब तीसरा नाम आता है- रणवीर सिंह का। खैर, उन पर मुद्रा आधारित भ्रष्टाचार का तो कोई आरोप नहीं है, लेकिन ‘वस्त्र आधारित भ्रष्टाचार’ वो बहुत दिनों से कर रहे हैं। चाहे वो लड़कियों के कपड़े हों, सीट कवर हो, या फिर आलू की बोरी, वो सब पहन लेते हैं। इस केस में भी सारा ठीकरा उनकी मूँछों पर ही फोड़ा जा रहा है, बड़ी मूँछ होने की वजह से ही उनका दिमाग फिर जाता है, और वो कुछ भी उल्टा-सीधा पहनकर घर से निकल लेते हैं।

उधर, बिहार सरकार भी तेजस्वी के बयान के समर्थन में आ गई है। नीतीश सरकार ने घोषणा की है कि “अगर किसी व्यक्ति पर भ्रष्टाचार का आरोप लगेगा, तो सबसे पहले उसकी मूँछ चेक की जाएगी, यदि मूँछ नहीं है, तो उसे तुरंत निर्दोष घोषित कर दिया जाएगा।”



ऐसी अन्य ख़बरें