Thursday, 24th August, 2017

चलते चलते

चाँद पर इंसान भेजने की तैयारी में इसरो; जानिये, कौन-कौन जाना चाहते हैं चाँद पर

08, Jun 2017 By Ritesh Sinha

श्रीहरिकोटा. GSLV रॉकेट मार्क-3 के सफल प्रक्षेपण के बाद यह साफ़ हो गया है कि भारत अन्तरिक्ष में इंसान भेज सकता है। अब उस व्यक्ति तलाश शुरू हो गई है, जिसे भारत की ओर से चाँद पर भेजा जाएगा। इस लिस्ट में कुछ लोग ऐसे हैं, जो खुद ही वहां जाना चाहते हैं, जैसे मोदीजी और माल्या! वहीँ, कुछ लोग ऐसे भी हैं, जिन्हें खुद पब्लिक वहाँ भेज देना चाहती है, जैसे कि धिन्चक पूजा और केआरके! कुछ लोगों ने तो यहाँ तक कह दिया है कि अगर धिन्चक पूजा और केआरके को चाँद पर भेजा जाता है, तो वे खुद अपनी जेब से उनका सारा खर्चा उठाने को तैयार हैं।

chandrayaan
चाँद पर जाने को तैयार बैठी हस्तियाँ

तो सबसे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने चाँद पर जाने की इच्छा जाहिर कर दी। हालाँकि, उनका नाम किसी ने प्रोजेक्ट नहीं किया था, लेकिन बिना प्रोजेक्ट किए ही, कहीं भी घुस जाने का उनका पुराना रिकॉर्ड रहा है। बाद में अमित शाह ने उन्हें बड़ी मुश्किल से समझाया कि आप तो इतना विदेश घूमते रहते हैं, कम से कम इस बार तो किसी दूसरे को चांस मिलना चाहिए, तब कहीं जाकर मोदी जी माने।

जानिए चाँद पर जाने के बारे में दूसरी हस्तियों ने क्या जवाब दिया-

राहुल गाँधी- “दिग्गी अंकल! दिग्गी अंकल! मैं भी जाऊंगा चंदा मामा के पास! वहां जाकर मैं एक नई पार्टी बनाऊंगा और आराम से ‘गीता’ पढूंगा। आप इसरो वालों को फोन करके बता दो कि मैं जाने के लिए तैयार हूँ, और हाँ! मैं आपको भी ले जाऊंगा, अभी तो बहुत कुछ सीखना है आपसे।'”

विजय माल्या- “मुझे तो बचपन से ही उड़ने और उड़ाने का शौक रहा है, इसलिए चाँद पर तो मुझे ही जाना चाहिए। वहां जाकर मैं पानी नहीं सीधा दारू खोजूंगा। इसके अलावा मैं देखूंगा कि वहां कोई बैंक है या नहीं! क्योंकि चाँद पर रहने में काफ़ी खर्चा आयेगा, जिसके लिये मुझे बैंक से लोन लेना पड़ेगा। बैंक दिखते ही मैं लोन के लिए अप्लाई कर दूंगा।” (उधर, SBI ने विजय माल्या को चाँद पर भेजने की योजना का सख्त विरोध किया है)।

केआरके- “मुझे चाँद पर जाने का बिल्कुल शौक नहीं है। ये लोग मुझे जबरन भेजना चाहते हैं। आप मेरी लेटेस्ट घटिया मूवी-रिव्यू पढ़ते रहिए, फिल्म का नाम है – चाँद के पार चलो! अब मैं भी चलता हूँ, गाली खाने का टाइम हो गया है!”

कन्हैया कुमार- “मैं नहीं जाता वहां, मैं तो सीधे ‘लाल-ग्रह’ पर जाऊंगा। जब लाल ग्रह पर जाना हो तो मुझे बताना! मेरा एड्रेस लिख, टेम्पररी जेएनयू, परमानेंट जेएनयू!”

नवजोत सिंह सिद्धू- “ओए..गुरु! ठोको ताली, ओए गुरु…ठोको ठोको! (जी नहीं, ‘गुरु’ पर नहीं, चाँद पर जाना है) ..तो मैं नही जाउंगा, ठोंको ताली!”

विराट कोहली- “चाँद सी महबूबा हो मेरी, कब ऐसा मैंने सोचा था ..@&##jA(@@ पाकिस्तान के साथ एक और मैच कराओ रे जल्दी!”

अब देखना होगा कि इसरो इनमे से किस संत को चुनकर चाँद पर भेजती है।



ऐसी अन्य ख़बरें