Sunday, 19th November, 2017

चलते चलते

अगर मिलिंद सोमन की गर्लफ्रेंड नॉर्थ-ईस्ट के बजाय नॉर्थ इंडियन होती तो? एक रोचक विश्लेषण

10, Nov 2017 By बगुला भगत

मुंबई. मॉडल और अभिनेता मिलिंद सोमन अपने से आधी उम्र की गर्लफ्रेंड अंकिता कोंवर को लेकर कई दिनों से चर्चा में हैं। कम उम्र की लड़की से इश्क़ करने पर लोग सोशल मीडिया पर मिलिंद को ख़ूब ख़री-खोटी सुना रहे हैं। हालांकि, इस मामले में ना तो अंकिता के घरवालों का कोई बयान आया है और ना ही इसे लेकर उनके गृह राज्य असम में कोई हल्ला मच रहा है।

milind soman-ankita konwar
मिलिंद सोमन और उनकी प्रेमिका अंकिता

सोचिये, अगर अंकिता नॉर्थ-ईस्ट के बजाय नॉर्थ इंडिया के किसी राज्य से होतीं तो क्या होता? तो शायद ये सब हो रहा होता-

सारे न्यूज़ चैनलों की ओबी वैन उसी दिन से अंकिता के घर के बाहर खड़ी होतीं और सारे ‘खोजी’ रिपोर्टर उनके घरवालों के मुँह में माइक घुसेड़ रहे होते। अगर उनकी माँ बाइट देते-देते रो भी पड़तीं तो फिर तो कहने ही क्या थे! टीआरपी और रिपोर्टर की बल्ले-बल्ले हो जाती।

यह ख़बर ब्रेक होते ही अंकिता के माँ-बाप उन्हें समझाने-बुझाने-धमकाने और घर ले जाने के लिये पहली ट्रेन से ही मुंबई पहुंच जाते। और अगर मुंबई नहीं आते तो वहीं बैठे-बैठे बोल रहे होते कि “हमारे लिये वो मर चुकी है” या “हमारा उससे कोई रिश्ता नहीं है!”

और अगर घरवाले कुछ ना भी कह रहे होते तो मोहल्ले-पड़ोस वाले कैसे चुप रहते भला! नॉर्थ इंडिया के लोगों का तो सबसे पहला धर्म ही है- पड़ोसियों के बच्चों ख़ासकर लड़कियों की खोज-ख़बर रखना! उनके श्रीमुख से कुछ ऐसे उदगार निकल रहे होते- “उसके तो लक्षण शुरु से ही ऐसे थे” “मोहल्ले के 10 लड़कों से चक्कर था उसका” या “वो तो दसवीं में ही घर से भाग गई थी!”

कुछ फूफाजी टाइप रिश्तेदार सलाह दे रहे होते- “अभी भी कुछ नहीं बिगड़ा है, जल्दी से हाथ पीले कर दो भाईसाब!” और यह कहते हुए लगे हाथों 15-20 ‘अच्छे’ रिश्ते भी बता चुके होते। और अगर सब कुछ परंपरा के अनुसार हो रहा होता तो अब तक स्कूल-कॉलेज के दिनों के आधा दर्जन पूर्व-प्रेमी भी न्यूज़ चैनलों के स्टूडियोज में नमूदार हो चुके होते और छोटी-मोटी सेलेब्रिटी बन चुके होते।

कुछ शुभचिंतक टाइप लोग फुसफुसाकर ये भी पूछते कि “जिससे अफ़ेयर है, वो करता क्या है?” “क्या? भागता रहता है!” “हे भगवान! भागने वाले के साथ भाग गयी!”



ऐसी अन्य ख़बरें