Monday, 26th June, 2017
चलते चलते

तेजस एक्सप्रेस से हेडफ़ोन चुराने वाले ने कहा ''स्वतंत्रता सैनानियों की तरह ट्रेन लूटने की तमन्ना थी''

26, May 2017 By banneditqueen

एजेंसी. मुंबई  से गोवा के बीच सोमवार को सुपर फास्ट तेजस एक्सप्रेस की शुरुआत के पहले दिन ही इसने इतिहास के काले पन्नो में अपना नाम दर्ज कर लिया।  ट्रेन में पहले दिन ही लोगों को दिए गए हेडफोन्स गायब हो गए और कई LED स्क्रीन्स में स्क्रैच भी आ गया।  ट्रेन से पहली बार सफर करने के बाद बहुत सारे यात्रियों ने हेडफोन वापस लौटाना उचित नहीं समझा। पहले कुछ खबरें ऐसी भी आई थी कि कुछ उपद्रवियों ने ट्रेन के शीशे तोड़ दिए हैं। पटरी पर प्लेन के नाम से जाने वाली तेजस एक्सप्रेस की हालत एक आम ट्रेन जिसके टॉयलेट से लोग मग चुरा कर ले जाते हैं वैसी हो गयी।

tejas-express_3166408fरेलवे पुलिस दल ने एक युवक को ट्रेन से हैडफ़ोन चुरा कर ले जाते हुए पकड़ा। चोरी का कारण पूछने पर वो ज़ोर ज़ोर से ”इंक़लाब ज़िंदाबाद” चिल्लाने लगा, पुलिस ने बड़ी मुश्किल से उस पर काबू पाया और उसे थाने ले गई। काफी देर पूछताछ करने पर उसने कोई जवाब नहीं दिया। सिर्फ एक ही बात बोलता ”वतन के वास्ते हम सर कटाने से नहीं डरते।” पुलिस वालो को उसकी आधी बातें समझ ही नहीं आ रही थी, बड़ी देर बाद जाकर युवक ने अपना मुँह खोला और बताया कि ”जब मैं छोटा था तब मैंने भगत सिंह-दि लीजेंड मूवी देखी थी, उसमे दिखाए गए काकोरी काण्ड वाले सीन को देख के बड़ी तमन्ना थी कि कभी मुझे भी मौका मिले ट्रेन लूटने का। सिस्टम के खिलाफ बगावत करने का मौका मिले। आज जब ट्रेन में हमें फ्री हैडफ़ोन मिले तो कि यह मेरे टैक्स के पैसे से लिया गया हैडफ़ोन है मैं इसे क्यों न घर ले जाऊं। आज मैं भी ट्रेन लूटूँगा, बाकी चीज़ें तो नहीं लूट पाया पर हैडफ़ोन रख लिया।”

इस बयान के बाद पुलिस वालों ने युवक की जमकर पिटाई की और उसे हवालात में बंद कर दिया। पुलिस अब इस बात की पड़ताल कर रही है कि क्या बाकी लोगों  हैडफ़ोन चुराए या बस मुफ्त का माल साथ ले जाने की आदत है। पुलिस ने कई संदिग्ध लोटा बाल्टी चोरों के फोटो जारी कर दिए गए  हैं। उम्मीद है की जल्द ही हैडफ़ोन चोर पकड़ा जाएंगे।



ऐसी अन्य ख़बरें