Wednesday, 20th September, 2017

चलते चलते

हलाला करने वाले मौलवी सुप्रीम कोर्ट से दुखी, बोले ''अब छह महीने कैसे होगी कमाई?''

22, Aug 2017 By banneditqueen

दिल्ली. कुछ दिन पहले भारत के पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने भी बातों बातों में कहा कि भारत का मुसलमान डरा हुआ है। ”मुसलमान खतरे में है” ये बात तो आप जब से मोदी सरकार देश में राज कर रही है तब से सुन रहे हैं। आज सुप्रीम कोर्ट ने भी यह साबित कर दिया कि भारत के मुसलमान खतरे में हैं। पूरी कौम नहीं तो कम से कम वो मौलवी खतरे में है जो तीन तलाक़ के बाद हलाला कर के ही गुज़र बसर कर रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए फैसले में तीन तलाक़ पर छह महीने रोक लगा दी है।

halalaइस फैसले से वो मौलवी दुखी हैं जो कि तीन तलाक़ के बाद हलाला करने की एवज में मोटी रकम ऐंठते हैं। जैसे ही कोर्ट ने छह महीने की रोक का ऐलान किया, मौलवी सुप्रीम कोर्ट खिलाफ एकजुट होकर आवाज़ उठा रहे हैं। एक मौलवी का कहना है कि ”हम तो तीन तलाक़ पर सुप्रीम कोर्ट के दखल से खासे नाराज़ हैं, ऊपर से अब छह महीने तक रोक लगा दी है, हमारी कमाई का क्या होगा? अंसारी मियां सही बोल रहे थे कि हमारी क़ौम खतरे में हैं।”

वहीँ एक मौलवी ने सुप्रीम कोर्ट के जजों के खिलाफ ही फतवा जारी कर दिया, फतवा जारी करने वाले मौलाना का कहना है कि ”चाहे फैसला जो हो हम तो नहीं मैंने वाले, जो मानेगा उसके खिलाफ भी फतवा जारी करेंगे। नरेंद्र मोदी की सरकार जब से आई है किसी को कोई काम ही नहीं बचा है। हज़ार साल पुरानी परंपरा है, ऐसे कैसे बंद कर देंगे ?”



ऐसी अन्य ख़बरें