Sunday, 19th November, 2017

चलते चलते

राहुल गांधी पर जोक बनाने पर युवक गिरफ़्तार, देश भर में शुरु हुआ जेल भरो आंदोलन

20, Jul 2017 By Guest Patrakar

लखनऊ. बीते दिनों यूपी पुलिस की मुश्किलें तब बढ़ गईं जब राहुल गांधी की एक रैली, देश भर में जेल भरो आंदोलन का कारण बन गयी। इस सबकी शुरुआत हुई, AIB के प्रधानमंत्री मोदी पर किये गये एक अभद्र ट्वीट से! एआईबी ने प्रधानमंत्री मोदी के ऊपर कुत्ते वाला स्नैपचैट फ़िल्टर लगा कर ट्वीट किया था, जिसके बाद मुंबई पुलिस ने AIB के प्रवक्ता तन्मय भट्ट के ख़िलाफ़ FIR दर्ज कर दी।

arrest
जोक बनाने वाले युवक को ले जाती पुलिस

इसके विरोध में कई कांग्रेसी नेताओं ने ख़ुद की फ़ोटो पर कथित डॉग फ़िल्टर वाली फ़ोटो लगानी शुरु कर दी। उनका कहना था कि “एक प्रधानमंत्री का सम्मान इतना कमज़ोर नही होना चाहिए कि एक मामूली से ट्वीट से टूट जाए।” उनके यह कहते ही एक कॉमेडी ग्रुप ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल की फ़ोटो के साथ अभद्र मज़ाक़ कर दिया, जिसके बाद उस कॉमेडी ग्रुप के ख़िलाफ़ FIR हो गयी और उन्हें जेल भेज दिया गया।

यह ख़बर फैलते ही जोक बनाने वालों का देश भर में जेल भरो आंदोलन शुरु हो गया। गिरफ़्तारी देने जा रहे एक युवक ने बताया कि “राहुल जी की बात सुनकर उन पर जोक बनाने से ख़ुद को रोक पाना असंभव है।” कुछ लोग तो यहाँ तक कह रहे हैं कि ये हमारा मूल अधिकार है। लोग ख़ुद पुलिस को अपने जोक दिखाकर जेल में डालने को कह रहे हैं।

फ़ेकिंग न्यूज़ संवाददाता ने इस बारे में DGP सुरेश धैय्या से से बात की। धैय्या जी ने बताया कि “हमारी जेलों में अब जगह नहीं बची है और अगर ऐसा ही चलता रहा तो हमें कुछ पुराने अपराधियों को छोड़ना पड़ेगा।” सूत्रों की मानें तो एक पुलिसकर्मी को भी जेल हुई है क्योंकि जब लोग उसे अपना राहुल वाला जोक दिखा रहे थे, तो वो अपनी हँसी रोक नहीं पाया।

वैसे, इस घटना ने पुलिस प्रशासन को कटघरे में खड़ा कर दिया है। आख़िर पुलिस की प्राथमिकता क्या है? और क्या अपराधियों को पकड़ने की जगह जोक बनाने वालों को पकड़ कर पुलिस अपना मज़ाक़ नहीं बना रही? और अगर बना रही है तो पुलिस को भी जेल होनी चाहिए।



ऐसी अन्य ख़बरें