Saturday, 19th August, 2017

चलते चलते

केरल की घटना से गुजरात कांग्रेस खुश, हारने के लिए नहीं करनी पड़ेगी ज्यादा मेहनत

29, May 2017 By Ritesh Sinha

गुजरात. केरल में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं द्वारा सरेआम बछड़े को काटे जाने पर लोग गुस्से में हैं, और माना जा रहा है कि इस घटना की गूँज आने वाले चुनावों में भी सुनाई देगी। हालाँकि, कांग्रेस पार्टी ने इस घटना से किनारा कर लिया है, लेकिन कांग्रेस की गुजरात इकाई इस घटना को इतनी जल्दी छोड़ने के मूड में नहीं है। वहां के नेता इस फिराक में हैं कि ये घटना प्रदेश के चुनाव में एक बड़ा मुद्दा बन जाए, और उन्हें हारने के लिए ज्यादा मेहनत ना करनी पड़े।

गाय हमारी माता है कांग्रेस को कुछ नहीं आता है
गाय हमारी माता है कांग्रेस को कुछ नहीं आता है

गुजरात कांग्रेस के एक बड़े नेता ने नाम ना छापने की शर्त पर बताया कि “देखिए! जैसे ही चुनाव आता है, हम ऐसे मुद्दों की तलाश में जुट जाते हैं, जिससे हमारी पार्टी को सबसे ज्यादा नुकसान हो। आपने देखा होगा कि चुनाव से ठीक पहले हमारे कई नेता उल्टा-सीधा बोलकर हमारी हार में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, तो वहीँ कई बार राहुल गाँधी जी अकेले ही पार्टी पर भारी पड़ जाते हैं। केरल की घटना भी हमारी इसी ‘चुनाव हारो रणनीति’ का हिस्सा है।”

लेकिन इस घटना से तो आपकी पार्टी को नुकसान हो सकता है, फिर आप खुश क्यों हैं?” ऐसा पूछे जाने पर नेताजी ने बताया कि “अरे यार! इतनी भी अक्ल नहीं है! अब तो चुनाव में क्या होना है, हमें पता चल गया है, इसलिए आराम से घर में बैठेंगे, थोड़ा बहुत प्रचार कर देंगे, बाकि सब राहुल गाँधी जी जानें। वैसे भी आजकल जीतने की इच्छा भी नहीं होती, पटाखा फोड़ना तक भूल गए हैं हम तो!”-नेताजी ने माथे का पसीना पोछते हुए कहा।

वहीँ, प्रदेश के कुछ कांग्रेस नेता अभी भी जोश में हैं, और मानते हैं कि हमें दमखम से चुनाव की तैयारी करना चाहिए। इस एक घटना से कुछ नहीं होगा।” ऐसा मानने वाले नेताओं को जल्द ही पार्टी की ओर से लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड प्रदान किया जाएगा।

उधर, केरल कांग्रेस ने खुलासा किया है कि जिस बछड़े को काटा गया उसका उस दिन बर्थडे था, और जहाँ केक का आर्डर दिया गया था, उसने डिलीवरी देने में बहुत देर कर दी, इसलिए केक की जगह उसे ही….।



ऐसी अन्य ख़बरें