Sunday, 22nd April, 2018

चलते चलते

विरार ट्रेन में चढ़ने के लिए ट्रेनिंग देगी सरकार, बोरीवली में खुला 'लोकल स्किल इंडिया सेंटर'

03, Apr 2018 By बगुला भगत

मुंबई. विरार वाली लोकल ट्रेन में चढ़ना, हिमालय पर चढ़ने से भी मुश्किल माना जाता है। अगर कोई क़िस्मत से इसमें चढ़ भी जाता है तो फिर उतर नहीं पाता। इसी प्रॉब्लम को देखते हुए रेल मंत्रालय ने मीरा रोड, भायंदर, बोरीवली और अंधेरी के पैसेंजर्स को ट्रेनिंग देने की योजना बनाई है।

Mumbai Local-Rush
लोकल की प्रॉब्लम अब इंटरनेशनल हो गयी है

पश्चिम रेलवे ने यह जानकारी देते हुए बताया कि जल्द ही बोरीवली में एक ट्रेनिंग सेंटर खुलने वाला है, जिसमें पैसेंजर्स को विरार लोकल में चढ़ने और उतरने की ट्रेनिंग दी जाएगी।

चढ़ने और उतरने के अलावा इसमें और भी कई ज़रूरी चीज़ें सिखाई जाएंगी, जैसे कि ‘चढ़ने के बाद ट्रेन में किधर खड़ा होना है’, ‘अपना स्टेशन आने से कितने स्टेशन पहले सीट छोड़ देनी है’, ‘एक पैर पर कैसे खड़े हो सकते हैं’…वगैरह-वगैरह।

पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक परमानंद मिश्रा ने कहा कि “लोकल के गेट पर रास्ता रोककर खड़े विरार वालों को चीरकर अंदर कैसे पहुँचना है, यह हमारी ट्रेनिंग का सबसे अहम हिस्सा होगा। 6 महीने के इस कोर्स को करने के बाद बंदा किसी भी ट्रेन में चढ़ने योग्य हो जायेगा।”

इस ख़बर का बीच के स्टेशन वाले सभी यात्रियों ने दिल खोलकर स्वागत किया है। भव्येश जोगानी, जो 8 बजे मीरा रोड स्टेशन पर आते हैं और साढ़े 10 बजे किसी ट्रेन में चढ़ पाते हैं, ने चहकते हुए कहा कि “अब मेरी नौकरी छूटने से बच जाएगी। थैंक्स पीयूष गोयल जी!”

इस बीच, पता चला है कि विरार ट्रेन में चढ़ने के लिए भायंदर का एक युवक आज सुबह देसी कट्टा लेकर आ गया था, जिसे लोगों ने पकड़कर आरपीएफ़ वालों के हवाले कर दिया। उम्मीद है कि इस ट्रेनिंग सेंटर के खुल जाने के बाद लोगों को क़ानून हाथ में लेने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी और वे बिना कोई अपराध किए विरार लोकल में सफ़र कर पाएंगे।



ऐसी अन्य ख़बरें