Tuesday, 16th January, 2018

चलते चलते

2G घोटालाः सीबीआई कोर्ट के फ़ैसले के ख़िलाफ़ अर्नब की अदालत में अपील करेगी सरकार

22, Dec 2017 By बगुला भगत

नयी दिल्ली. सीबीआई कोर्ट से बरी हुए 2जी घोटाले के आरोपी ज़्यादा ख़ुशी ना मनाएँ क्योंकि उनकी मुसीबतें पहले से भी ज़्यादा बढ़ने वाली हैं। केंद्र सरकार ने सीबीआई कोर्ट के फ़ैसले के ख़िलाफ़ ऊपरी अदालत यानि ‘अर्नब गोस्वामी की अदालत’ में जाने का फ़ैसला किया है। कुछ आरोपी तो यह सुनते ही अंडरग्राउंड हो गये हैं, तो वहीं कुछ नेपाल भागने की ताक में हैं।

Arnab-Republic-Judge
सरकार की अपील का इंतज़ार करते जज अर्नब

क़ानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने मीडिया को इस कड़े फ़ैसले की जानकारी देते हुए कहा कि “हम ऐसे हार नहीं मानने वाले! हम अर्नब की अदालत में जाएंगे और हमें पूरा भरोसा है कि वहाँ हमें पूरा न्याय मिलेगा और जो कल तक हँस रहे थे, वे सारे आरोपी अब रोते फिरेंगे।”

“सारी दुनिया जानती है कि अर्नब की अदालत से आज तक कोई नहीं बच पाया। वहाँ रोज़ रात को एक केस सुना जाता है और हाथों-हाथ सज़ा सुना दी जाती है। इन नॉर्मल जजों के ख़िलाफ़ तो कोई ऐरा-गैरा वकील भी ज़बान चलाने लगता है लेकिन जज अर्नब के सामने तो किसी की मुँह खोलने की भी हिम्मत नहीं होती! और अगर कोई क़िस्मत से खोल भी लेता है तो वो बस खोल ही पाता है, बोल कुछ नहीं पाता।” -रविशंकर ने कुटिल ढंग से मुस्कुराते हुए कहा।

ए राजा और कनिमोझी ने तो जब से यह ख़बर सुनी है, वे दहाड़ मारकर रोये जा रहे हैं। उन्हें लग रहा है कि अगर केस एक बार अर्नब के कोर्ट में चला गया तो फिर उन्हें भगवान भी नहीं बचा सकता। इसी डर से दोनों ने बरी होने के बावजूद फिर से सीबीआई की अदालत में सरेंडर कर दिया है। वे जज से अपील कर रहे हैं कि प्लीज़ जो भी सज़ा देनी है, आप ही दे दो! बस, हमें अर्नब से बच लो!



ऐसी अन्य ख़बरें