Thursday, 24th August, 2017

चलते चलते

बीबर की माँगों से तंग आकर आयोजकों ने कहा ''स्नैपचैट CEO की बात सच, भारत सच में गरीब''

04, May 2017 By banneditqueen

एजेंसी. कैनेडियन पॉप स्टार, लाखों लड़कियों के दिलो पर राज करने वाले मशहूर सिंगर जस्टिन बीबर आखिरकार भारत आ रहे हैं। लेकिन भारत आने से पहले उन्होंने एक लम्बी चौड़ी सूची भेजी है जिसमें कई तरह की मांगे की गई हैं जैसे कि पर्सनल मसूस और ग्लास डोर वाला रेफ्रिजरेटर। आयोजक इस लम्बी लिस्ट को देखने के बाद सकते में हैं और उन्हें डर है कि कहीं बीबर की मांगों पर लगाम नहीं लगी तो वे कंगाल हो जाएंगे। आयोजकों की माने तो जितना खर्चा बीबर की मांगो को पूरा करने में आएगा उतनी कमाई तो अगर बीबर रोज़ एक कॉन्सर्ट करें भारत में तो भी नहीं हो पाएगी।

भारत बोले I am sorry
भारत बोले I am sorry

इस पर से आयोजकों ने फैसला किया है कि बीबर के मैनेजर को चिट्ठी लिखकर बताया जाएगा कि भारत बहुत गरीब देश है और हम इतना खर्चा नहीं कर सकते। बीबर का कॉन्सर्ट आयोजित करने वाली इवेंट मैनेजमेंट कंपनी के मैनेजर ने कहा ”कुछ समय पहले स्नैपचैट के सीईओ ने कहा था कि भारत गरीब देश है इसीलिए यहाँ अपना बिज़नेस बढ़ने का कोई औचित्य नहीं क्यूंकि स्नैपचैट अमीर लोगों के लिए है। जस्टिन की मांगो को देखते  हुए हमें पूरी उम्मीद है की ऐसे २-४ कॉन्सर्ट्स हो गए तो भारत सच में गरीब हो जाएगा। इसीलिए हमने ये फैसला किया है कि जस्टिन बीबर तक यह अफवाह पहुंचाई जाएगी कि भारत गरीब देश है और उनके कॉन्सर्ट सिर्फ अमीर लोगों के लिए हैं।”

सुनने में यह भी आया है कि जो फैंस कई दिनों से जस्टिन बीबर के कॉन्सर्ट की प्रतीक्षा कर रहे थे वह काफी आक्रोश में हैं। इससे निपटने के लिए आयोजकों ने यह तरकीब निकाली है कि कॉन्सर्ट की शुरुआत में दो चार गाने हिमेश रेशम्मिया जी से गवाए जाएंगे ताकि कॉन्सर्ट में मौजूद लोगों का कॉन्सर्ट में रुकने का मन ही ना करे। ऐसा करने से आयोजकों की कमाई भी हो जाएगी और साथ ही साथ बीबर के नखरों से भी बच जाएंगे।



ऐसी अन्य ख़बरें