Wednesday, 25th April, 2018

चलते चलते

"अपने पापा की तरह अब तुम भी देख सकते हो पीएम बनने का सपना"- चुनाव आयोग ने अखिलेश को दिया अधिकार

16, Mar 2018 By Ritesh Sinha

लखनऊ/नयी दिल्ली. गोरखपुर और फूलपुर उपचुनाव जीतकर समाजवादी पार्टी ने बीजेपी को सोचने पर मजबूर कर दिया है। ज़ाहिर है इस जीत का पूरा श्रेय पार्टी अध्यक्ष ‘अखलेश’ को दिया जा रहा है। ऐसे में चुनाव आयोग ने घोषणा की है कि अब अखिलेश भी अपने पापा की तरह प्रधानमंत्री बनने का सपना देख सकते हैं। आयोग के अधिकारियों ने सपना देखने का ‘अधिकार पत्र’ कल शाम को ही अखिलेश को सौंप दिया। यह अधिकार मिलने के बाद अब अखिलेश प्रधानमंत्री बनने का सपना वैधानिक रूप से देख सकते हैं, उनका कोई कुछ नहीं बिगाड़ेगा!

Akhilesh-1
सपना देखने की तैयारी करते अखिलेश बबुआ

चुनाव आयोग के एक बड़े अफसर ने फ़ेकिंग न्यूज़ को बताया, “देखिए! हम यह ‘अधिकार’ सिर्फ उन नेताओं को देते हैं जो किसी चुनाव में अच्छा प्रदर्शन करते हों या फिर जो जोड़-तोड़ में माहिर हों। और हमें लगता है कि बीजेपी को उसके गढ़ में हराने वाले को यह अधिकार ज़रूर मिलना चाहिए!”

गौरतलब है कि अखिलेश के अलावा उनके परिवार में मुलायम सिंह के पास भी यह अधिकार पहले से मौजूद है। “अब तक आप कितने लोगों को यह ‘अधिकार पत्र’ जारी कर चुके हैं?” यह पूछे जाने पर अधिकारी सोच में पड़ गए और सर खुजाते हुए बोले, “यही कोई सात-आठ सौ नेता तो होंगे ही, जो फिलहाल प्रधानमन्त्री बनने का सपना देख रहे हैं! अखिलेश के पप्पा को तो हम बीस साल पहले ही जारी कर चुके थे! हाँ, आजकल दक्षिण भारत से बहुत डिमांड आ रही है! कमल हासन, रजनीकांत, दिनाकरण..वगैरह!” -उन्होंने कुछ कागजों को खंगालते हुए बताया। “सपना देखने वाली लिस्ट में केजरीवाल का नाम है या नहीं?” ऐसा पूछे जाने पर वो भड़क गए और उन्होंने हमारे रिपोर्टर को भगा दिया।

उधर, अखिलेश के इस प्रमोशन से मायावती खुश नहीं हैं, उन्होंने चुनाव आयोग पर भेदभाव का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि ‘सपा’ की जीत में ‘बसपा’ का भी बहुत बड़ा ‘हाथ’ है, इसलिए उन्हें भी पीएम बनने का सपना देखने का अधिकार मिलना चाहिए। चुनाव आयोग ने उनकी इस शिकायत को गंभीरता से लिया है और अब उन्हें भी यह अधिकार पत्र सौंपने पर विचार कर रहा है।



ऐसी अन्य ख़बरें