Wednesday, 13th December, 2017

चलते चलते

डेंगू के मच्छर दिल्ली में बनाएँगे नई पार्टी, चिकनगुनिया ने भी किया समर्थन देने का वादा

19, Sep 2016 By Ritesh Sinha

नयी दिल्ली. नवजोत सिंह सिद्धू के बाद आम आदमी पार्टी को एक और बड़ा डंक झटका लगा है। ‘आप’ को यह झटका राजधानी के डेंगू वाले मच्छरों ने दिया है। जब से डेंगू के मच्छरों को पता चला है कि दिल्ली सरकार के ज्यादातर मंत्री बाहर हैं, जहां वे अलग-अलग कामों बिजी हैं, तब से उनकी नीयत डोल गई है और उन्होंने दिल्ली में अपनी पार्टी लांच करने का फैसला किया है।

Mosquitoes
डेेंगू पार्टी की कार्यकारिणी के सदस्य मीटिंग करते हुए

डेंगू के मच्छरों को लगता है कि जो जगह आम आदमी पार्टी के नेता खाली करेंगे उस पर आसानी से कब्ज़ा किया जा सकता है क्योंकि बीजेपी अभी भी कहीं सीन में नहीं है। चिकनगुनिया के मच्छरों ने भी डेंगू को बाहर से समर्थन देने का वादा किया है। कई विशेषज्ञों का मानना है कि अगले चुनाव में दिल्ली में इनको बहुमत भी मिल सकता है। आल इंडिया डेंगू संघ (AIDS) के अध्यक्ष डगलस कुमार ने अपनी पार्टी की भावी योजनाओं के बारे में बताया कि, “हमारी पार्टी दिल्ली के लोगों का विकास चाहती है, इसीलिए हमने नई पार्टी बनाने का फिसला किया है।”

जब उनसे पूछा गया कि अगर उनकी पार्टी जीत जाती है तो वो दिल्ली के लिए क्या-क्या करेंगे? तो डगलस जी ने भिनभिनाया कि “देखिए! सबसे पहले हम अपने मंत्रियों की अच्छे डॉक्टर से जांच कराएंगे, उसके बाद ही उनको मंत्री बनाएँगे। हमें रहने के लिए सरकारी बंगलों की भी ज़रूरत नहीं है क्योंकि पूरी दिल्ली ही हमारे रहने के लायक हो गई है आजकल..वसुधैव कुटुम्बकम You Know!, इसके बाद हम इंसानों को लोकपाल से बाहर करके वहां अपने डेंगू भाइयों को इनस्टॉल करेंगे। सबसे आखिरी बात! हम दूसरे राज्यों की तरफ गन्दी नज़र से देखेंगे भी नहीं।” चिकनगुनिया ने भी डेंगू को चुनाव में समर्थन देने का वादा किया है।

उधर, डेंगू पार्टी से निपटने के लिए अरविन्द केजरीवाल ने भी पूरी तैयारी कर ली है, उन्होंने हर घर में नलों से गंदा पानी सप्लाई करने का आदेश दे दिया है। ना साफ़ पानी होगा और ना डेंगू के मच्छर पनपेंगे। ना रहेगा बांस और ना बजेगी बांसुरी!

उधर, कई राजनीतिक पंडितों ने डेंगू पार्टी को भारी बहुमत मिलने की भविष्यवाणी कर दी है, इसके बदले में डेंगू के मच्छरों ने उन राजनीतिक पंडितों को नहीं काटने का निर्णय लिया है। साथ ही चुनाव जीतने के बाद उनके लिए भारी बजट खर्च करने का भी भरोसा दिलाया है।



ऐसी अन्य ख़बरें