Tuesday, 12th December, 2017

चलते चलते

दिल्ली: पूरा ऑफ़िस मैदान में भागा, बाद में पता चला स्मॉग से बजा था फ़ायर अलार्म

16, Nov 2017 By Guest Patrakar

नयी दिल्ली. जिस स्मॉग ने अभी तक सरकार, स्कूल और कॉलेजों को चपेट में ले रखा था, उससे अब मशीनों का भी सर चकराने लगा है। कल दोपहर नेहरु प्लेस में एक दफ़्तर में स्मॉक अलार्म ख़ुद ब ख़ुद बज पड़ा। जिसके कारण पूरे दफ़्तर में हड़कम्प मच गया। लोग अपना सब काम-धाम छोड़ कर सामने मैदान की ओर भाग पड़े।

Smog-Delhi
अलार्म के बाद राजीव चौक मेट्रो स्टेशन पर लगी भीड़

नेहरु प्लेस के इरोस काप्रेट बिल्डिंग में उस समय हड़कम्प मच गया, जब फ़ायर अलार्म ज़ोर-ज़ोर से बजने लगा। बिल्डिंग के सिक्यरिटी गार्ड राधेश्याम ने फ़ेकिंग न्यूज़ से बातचीत के दौरान बताया कि “हम यहाँ पाँच साल से नौकरी कर रहे हैं। लेकिन ऐसा पहली बार हुआ है कि स्मॉग की वजह से बिल्डिंग का फ़ायर अलार्म बजा हो। कल दोपहर सब कुछ रोज़ की तरह नॉर्मल था। मैनेजर साहब अपनी बीवी से डाँट खा रहे थे। सेल्स वाले अपनी नौकरी को गाली दे रहे थे, हम खैनी रगड़ रहे थे और HR वाले रोज़ की तरह कुछ नहीं कर रहे थे।”

“तभी बिल्डिंग का फ़ायर अलार्म ज़ोर-ज़ोर से बजने लगा। सब दौड़ कर मैन हॉल में आ गए। जब फ़ायर ब्रिगेड ने आकर जाँच पड़ताल की, तो पता चला कि यह अलार्म किसी आग के कारण नहीं बल्कि स्मॉग की वजह से बजा है।” -कहते हुए राधेश्याम ने मुँह में खैनी दबा ली।

दफ़्तर के मालिक अनिल ठारानी को इस वाकये ने बहुत अचंभे और परेशानी में डाल दिया है। उनका कहना है “पहले तो मुझे लगा कि यह ज़रूर किसी सेल्स वाले लड़के की शैतानी है। जो काम ना करने के लिए यह सब कर रहा है। लेकिन फिर याद आया कि वो तो वैसे भी काम नहीं करते, तो फिर वो क्यूँ ऐसा करेंगे। लेकिन जब फ़ायर ब्रिगेड वालों ने बताया कि यह अलार्म स्मॉग की वजह से बजा है, तब मेरा दिल मानो बैठ सा गया। अब यह ख़बर हर जगह छप जाएगी और मुझे मजबूरन सबको छुट्टी देनी पड़ेगी। एक मैनेजर के लिए इस से बुरा और क्या हो सकता है कि उसे लोगों को छुट्टी देनी पड़े और वो छुट्टी अपनी बीवी के साथ बितानी पड़े!”

बहरहाल, दफ़्तर की वाक़ई में छुट्टी कर दी गई है और अब वो अगले सोमवार को खुलेगा। कुछ लोग तो उस दिन भी स्मॉग बढ़ जाने की दुआ कर रहे हैं ताकि सोमवार को भी दफ़्तर ना आना पड़े।

वैसे, स्मॉग से होने वाला ये अजीबो-ग़रीब क़िस्सा पहला नहीं है। कुछ ही दिनों पहले एक लड़के ने अपने ही घर में फ़सल को आग लगाकर धुआँ-धुआँ कर दिया ताकि स्मॉग का लेवल बढ़ जाए और ऑफ़िस बंद हो जाए। इस ख़बर का ख़ुलासा फ़ेकिंग न्यूज़ ने ही किया था और हम आगे भी इस तरह के ख़ुलासे करते रहेंगे।



ऐसी अन्य ख़बरें