Thursday, 14th December, 2017

चलते चलते

“राहुल जी के प्रेज़िडेंट बनने के बाद लगा देंगे देश में प्रेज़िडेंट रूल” कांग्रेस प्रवक्ता का विवादित बयान

25, Nov 2017 By Guest Patrakar

एजेंसी. आने वाले कुछ दिन भारतीय राजनीति के लिए काफ़ी दिलचस्प होंगे, और ये अब दिखने लगा है। गुजरात चुनाव नज़दीक आ रहे हैं और वहीं राहुल गांधी को कांग्रेस का प्रेज़िडेंट बनाने की होड़ भी लगी हुई है। सभी पार्टियों के नेता ज़ोरों से प्रचार में लगे हैं और ऐसे में कई विवादित बयान सुनने को मिल रहे हैं। एक कांग्रेस प्रवक्ता ने तो ये तक कह दिया कि जब राहुल गांधी जी कांग्रेस के राष्ट्रपति बन जाएँगे तो देश में राष्ट्रपति शाषण लागू कर देंगे।

sanjayकांग्रेस प्रवक्ता गंजय झा ने एक न्यूज़ चैनल डिबेट में जोश में कहा “मोदी की मनमानी ज़्यादा दिन नहीं चलने वाली कांग्रेस में कांग्रेस प्रेज़िडेंट का चुनाव है जो कि राहुल जी जीतने वाले हैं और उनके प्रेज़िडेंट बनते ही देश में राष्ट्रपति रूल लगा दिया जाएगा। और फिर सब राहुल जी के हिसाब से होगा।”

राहुल गांधी ने इस बयान का समर्थन किया है और कहा कि “कांग्रेस प्रेज़िडेंट का चुनाव नज़दीक आ रहा है अच्छा है प्रेज़िडेंट रामनाथ कोबिंद जी अपनी कुर्सी के उलटे दिन गिनना शुरू कर दें।” ग़ौरतलब हो कि राहुल गांधी सोशल मीडिया में धूम मचाये हुए हैं और इसी के चलते वो चुनाव आयोग को चिट्ठी भी लिख चुके हैं कि गुजरात चुनाव सोशल मीडिया में ही हो। हालाँकि चुनाव आयोग ने राहुल गांधी के इस बात पर ध्यान नहीं दिया है मगर राहुल गांधी ने इस सुझाव से बहुत वाह-वाही लूटी है।

कांग्रेस प्रवक्ता के इस बयान पर भाजपा के नेताओं की प्रतिक्रिया भी कुछ कम बेवक़ूफ़ी वाली नहीं थी। भाजपा के सोशल मीडिया हेड अमित मालपिया ने टिप्पणी करते हुए कहा “राहुल गांधी राष्ट्रपति बने तो देश बर्बादी की तरफ़ जाएगा, इंदिरा गांधी ने इमर्जन्सी लगाकर देश को बहुत पीछे खड़ा कर दिया था राहुल गांधी भी ऐसा ही करेंगे”।

बयानों का सिलसिला यहीं ख़त्म नहीं हुआ, आप नेता आशुतोष ने कहा कि कांग्रेस प्रेज़िडेंट चुनाव में वो कांग्रेस का समर्थन देंगे और उन्हें पूर्ण विश्वास है कि इस चुनाव में भी दिल्ली चुनाव की तरह भाजपा का सूपड़ा साफ़ होगा।

कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव इंजिनीरिंग के बाद MBA की तरह है जिसमें पता होता है कि होना वही है जो होना है मगर फिर भी कर लेते हैं। इसी तरह की और मज़ेदार और गुप्त ख़बरें पढ़ने के लिए पढ़ें फ़ेकिंग न्यूज़।



ऐसी अन्य ख़बरें