Saturday, 23rd September, 2017

चलते चलते

लखनऊ मेट्रो में अगर 5 मुसलमान चढ़े तो बदले में 10 हिंदू भी चढ़ेंगेः योगी आदित्यनाथ

05, Sep 2017 By बगुला भगत

लखनऊ. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज प्रदेश की राजधानी में मेट्रो का उद्घाटन किया। इस मौक़े पर उन्होंने मेट्रो के संचालन के कुछ ख़ास नियम-क़ायदों का एलान भी किया। यह एलान करते हुए योगी जी ने कहा कि “इस मेट्रो में ऐसी विशेषताएं हैं, जो देश की किसी और मेट्रो में नहीं हैं। इसमें हिंदू-मुस्लिम यात्रियों को पहचानने की एक अत्याधुनिक ऑटोमेटिक टेक्नोलॉजी है।”

Yogi- Metro1
मेट्रो का हिंदू-मुस्लिम फॉर्मलूा समझाते मुख्यमंत्री योगी

इस मेट्रो ट्रेन के सभी दरवाज़ों पर स्कैनर लगे हुए हैं, जो आधार कार्ड से कनेक्ट हैं, जो यात्रियों की पहचान करेंगे। अगर किसी डिब्बे में तय लिमिट से एक भी मुसलमान ज़्यादा चढ़ गया, तो मेट्रो के दरवाज़े तब तक बंद नहीं होंगे, जब तक उसे उतार नहीं दिया जायेगा। मुस्लिमों की निर्धारित मात्रा पूरी होने के बाद मेट्रो के दरवाज़े अगले स्टेशन पर खुलेंगे ही नहीं।

सीआईएसएफ़ के जवानों को भी ख़ास निर्देश दिये गये हैं कि किसी भी मेट्रो स्टेशन में हिंदुओं से ज़्यादा मुसलमान ना घुस पायें। सामाजिक संतुलन बनाए रखने के लिये दोनों समुदायों के 5-10 वाले अनुपात का ध्यान रखें।

मेट्रो के उद्घाटन के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए सीएम योगी ने कहा कि “सपा सरकार के राज में बस और ट्रेनों में हिंदू यात्रियों के साथ बहुत भेदभाव किया गया, लेकिन हम ऐसा नहीं होने देंगे। हम किसी भी हिंदू व्यक्ति को मेट्रो की यात्रा से वंचित नहीं रहने देंगे।”

इसके अलावा, लखनऊ मेट्रो में गायों के लिये भी स्पेशल इंतज़ाम किये गये हैं। इस मेट्रो के अगले दो डब्बे गायों के लिये आरक्षित होंगे, जिनमें सीआईएसएफ़ के साथ-साथ गौरक्षक दल के मेंबर भी तैनात रहेंगे, ताकि असामाजिक तत्व गायों के साथ बदतमीज़ी ना कर पायें। कोई भी पैसेंजर गायों के डिब्बे में पाया गया तो उसे 10 साल से लेकर उम्र-क़ैद तक की सज़ा हो सकती है। राज्य में कब्रिस्तानों के बराबर श्मसान बनाने के बाद इसे योगी सरकार का दूसरी बड़ी उपलब्धि माना जा रहा है।



ऐसी अन्य ख़बरें