Monday, 20th November, 2017

चलते चलते

राम मंदिर नहीं, एग्ज़ाम में नकल रोकना है सबसे बड़ी चुनौती: योगी आदित्यनाथ

19, Mar 2017 By Ritesh Sinha

लखनऊ. यूपी का मुख्यमंत्री बनने के बाद योगी आदित्यनाथ ने फेकिंग न्यूज़ को पहला इंटरव्यू दिया, जिसमें उन्होंने एक विवादित बयान दे डाला। जब उनसे पूछा गया कि आपके लिए सबसे बड़ी चुनौती क्या है? तो उन्होंने राम मंदिर कहने के बजाय कुछ और कह दिया। उन्होंने कहा कि “देखिए! आजकल एग्ज़ाम चल रहे हैं और इस दौरान नक़ल रोकना ही मेरे लिये सबसे बड़ी चुनौती होगी। बच्चों के माँ-बाप खिड़की से चिट फेंकते रहते हैं, यह मुझे बिल्कुल अच्छा नहीं लगता।”

yogi adityanath
नकलचियों को चेतावनी देते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

इतना सुनते ही वहां मौजूद योगी समर्थक भड़क गए और योगी हाय-हायके नारे लगाने लगे। यह देखकर योगी आदित्यनाथ ने अपने समर्थकों से कहा- “अरे शांत रहो! देखते नहीं इंटरव्यू चल रहा है।” लेकिन योगी की इस अपील का उन पर कोई असर नहीं हुआ। यह देखकर उन्हें भी अपनी गलती का अहसास हो गया और तुरंत अपने जवाब में फेरबदल करते हुए कहा- “देखिए! राम मंदिर बनाना हमारे लिए सबसे बड़ी चुनौती है, परीक्षा में नक़ल रोकना गया तेल लेने!”

यह सुनते ही उनके समर्थक ख़ुशी से झूम उठे और फिर से योगी के पक्ष में नारे लगाने लगे। जब हल्ला शांत हुआ तो हमारे रिपोर्टर ने अगला सवाल पूछा- “लगता है कि आप तो यूपी को संभाल लेंगे लेकिन आपके समर्थकों को कौन संभालेगा? इस पर योगी जी मुस्कुराते हुए बोले- “नहीं ऐसी बात नहीं है! ये मेरे साथ-साथ सलमान खान के भी फैन हैं, जब कमिटमेंट कर देते हैं तो फिर ये मेरी भी नहीं सुनते।”

अच्छा ठीक है! अब आप अपनी दूसरी सबसे बड़ी चुनौती बताइए?” इस पर योगी जी बोले- “देखिए! टोल टैक्स वसूलने वाले बंदे को मार खाने से बचाना हमारी दूसरी सबसे बड़ी जिम्मेदारी होगी। सपाके राज में बेचारे आए दिन मार खाते रहते थे।”

और तीसरा महत्वपूर्ण काम कौन सा होगा जो आप करेंगे?” यह सुनकर योगी जी ने एक लम्बी सांस भरी और बोले- “देखिए! भोजपुरी गानों में सुधार लाना हमारे लिये तीसरी सबसे बड़ी चुनौती है। डबल मीनिंग की भी एक हद होती है!” यह सुनकर एक बार फिर समर्थक झूम उठे।

चलिए! अब आखिर में चौथी सबसे बड़ी चुनौती बताइए” यह सवाल सुनकर योगी जी गहरी सोच में डूब गए और काफ़ी सोचने-विचारने के बाद बोले- “देखिए! गुटखा, खैनी…।” वो जवाब दे ही रहे थे कि उनके समर्थक फिर से हाय-हायके नारे लगाने लगे। इस बार तो वे योगी जी के कहने पर भी नहीं रुके। हल्ला-गुल्ला बढ़ता देख हमें इंटरव्यू बीच में ही बंद करना पड़ा।



ऐसी अन्य ख़बरें