Wednesday, 22nd November, 2017

चलते चलते

'राइट टु प्राइवेसी' के आने पर केन्द्र सरकार ने 'राइट टु इन्फ़ोर्मेशन' ऐक्ट को रद्द करने का किया फ़ैसला

26, Aug 2017 By Vish

एजेंसी. सुप्रीम कोर्ट के ‘राइट टु प्राइवेसी’ पर आये फ़ैसले की जहां सब प्रशंसा कर रहे है वहीं इसी का हवाला देते हुए सरकार ने सन 2005 में लागू की गयी ‘राइट टु इन्फ़ोरमेशन’ ऐक्ट (RTI) को रद्द करने का फ़ैसला किया है। इसके पीछे की दलील में सरकार का कहना है कि दोनो धारायें एक दूसरे का खंडन करती हैं और एक साथ अस्तित्व में नहीं रह सकती।

क्या जल्द से जल्द फैसला करेगा सुप्रीम कोर्ट
क्या जल्द से जल्द फैसला करेगा सुप्रीम कोर्ट

बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह ने मीडिया के सामने इस बात की घोषणा की जिसे सुनते ही वहां मौजूद रिपोर्टरों के बीच खलबली मच गयी।। फ़िर शाह जी ने हाथ ऊपर कर सबको शांत होने का इशारा करते हुए कहा, “देखिये! बैठ जाइये। माननीय सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले का हम सम्मान करते हैं। और इसी के तहत हमने rti को रद्द करने का फ़ैसला किया है। ये दोनो धारायें परस्पर अनन्य हैं और एक समय में एक साथ नहीं रह सकती। अब आप ही बताइये जहां प्राइवेसी नागरीकों का मौलिक अधिकार है वहां कोई इन्फ़ोर्मेशन की मांग भला कैसे कर सकता है।”

इस पर एक रिपोर्टर ने उनसे पूछ लिया कि “तो एक को रद्द करने से क्या होगा, क्या हम कोई बीच का रास्ता नहीं निकाल सकते जिससे दोनो लागू हो सके?” तो शाह जी ने उसे गुस्से से देखा और पूरे 2 मिनट तक उसे घूरते रहे। वो रिपोर्टर डर कर बैठ गया और शाह जी की नज़रों से खुद को बचाने के लिये अपने आगे वाले के पीछे छुपने लगा।

फ़िर शाह जी मुस्कुराते हुए बोले, “अरे भाई! जब सरकार आपकी प्राइवेसी का खयाल रख रही है तो आपको भी तो सरकार की प्राइवेसी के बारे में सोचना चाहिये ना। वैसे भी इस rti का उपयोग सिर्फ़ सरकार अथवा सरकारी संघटनों के खिलाफ़ ही किया जाता है प्राइवेट बाॅडीज़ के खिलाफ़ नहीं।”

फ़िर एक और रिपोर्टर उनसे कुछ पूछने के लिये उठा तो शाह जी उसकी बात शुरु होने से पहले ही काटते हुए बोले, “निश्चिंत रहिये। सरकार आपको इस बात का विश्वास दिलाती है कि आप इस rti को miss नहीं करेंगे। हम आगे भी सोशल मीडिया और न्यूज़ चैनेल्स के जरिये मुद्दे की बात से आपका ध्यान भटकाते रहेंगे जिससे rti के बारे में सोचने का आपको मौका ही नहीं मिलेगा।” इतना कहकर उन्होंने बातचीत समाप्त की और चलते बने।



ऐसी अन्य ख़बरें