Saturday, 27th May, 2017
चलते चलते

सिगरेट पीने वालों के लिए सिगरेट से ज़्यादा हानिकारक है बजटः रिसर्च

04, Feb 2017 By khakshar

नयी दिल्ली. सिगरेट पीना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। ये ऐसा तब भी था जब “दंगल ” का बापू हानिकारक नहीं था। हालाँकि रिसर्च  में एक नई  बात पता चली  है। पाया गया है कि सिगरेट पीने वालों के लिए सिगरेट से ज्यादा हानिकारक बजट होता है। इसका सबूत ये है कि बजट आने से पहले लाखों सिगरेट पीने वाले लोग बीमार पड़ जाते हैं। सिगरेट के बढ़े हुए दामों को दोष देने से दोस्तों और रिश्तेदारों में इज़्ज़त चली जाती है।  बढ़े हुए दामों की वजह से सिगरेट छोड़ने से अच्छा तो बीमारी का बहाना है।

वैसे, जो लोग बहादुर हैं और सिगरेट नहीं छोड़ रहे हैं, वे खाँसते-खाँसते अपनी वीरता का गुणगान करते हैं। हालाँकि मन ही मन बोलते हैं- “छूटती नहीं यार, बीस बार कोशिश फेल हो चुकी है।”

jaitley-budget
सेहत के लिये हानिकारक सामग्री ले जाते जेटली जी

बजट के बाद भी सिगरेट जारी रखने वाले का ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है। पर इसका दोष सिगरेट पर नहीं हैं। चिरकुट सिंह नुक्कड़ के पानवाले चूना चौरसिया से भिड़े हुए थे- “दाम तो एक अप्रैल से बढ़ेंगे, तुम तो दो महीना पहले से ही चूना लगा रहे हो। सौ का दाम लिखा, एक सौ बीस में बेच रहे हो!” चूना चौरसिया भी चिल्लाए- “हम क्या करें, ये तो बनाने वाली कंपनी से पूछो! उसने अभी से दाम बढ़ा दिया है। ऊपर से माल भी कम दे रहे हैं।”

चिरकुट सिंह की तबीयत आज कुछ अजीब सी दिख रही थी। पहले चीखे, फिर हाँफने लगे और अंत में सुट्टा मार दिए। कश लगाते ही उनके चेहरे पर असीम संतुष्टि आ गयी और थोड़ी देर के लिये एकदम शांत हो गए। फिर बीच-बीच में बजट, वित्त मंत्री और कंपनी का भजन-पाठ भी करते जाते थे।

यह देखकर बगल में चटोरी लाल ‘चाय वाले’ चुप नहीं रह पाये, बोले- “ये तो चूना और चिरकुट का आपसी प्रेम है। हर साल बजट के पहले पनपता है। इस बार ये प्रेम दो महीने तक चलेगा। पुरे नुक्कड़ का नाक में दम कर देंगे। बजट दो महीने पहले पेश करने वालों का बुरा हो।”

पान खाने वाले सूत्रों से पता चला है कि चिरकुट सिंह भले आदमी हैं। उन्होंने दो वित्त मंत्रियों के फोटो भी फ्रेम करवा के रखे हैं। पिछले बीस साल में इन्हीं दोनों मंत्रियों ने बजट में सुट्टे के दाम नहीं बढ़ाये हैं। अब ये दोनों फोटो चिरकुट जी के घर की दीवार पर महापुरुषों के फोटो की तरह टंगे हैं।

इधर, चूना चौरसिया के भाई, कत्था चौरसिया ने एक शेर चेंप दिया- “कश पे कश लगाते रहिए, सेहत का जश्न मनाते रहिए!”



ऐसी अन्य ख़बरें