Tuesday, 24th October, 2017

चलते चलते

दिल्ली को बजट में मिले 758 करोड़, केजरीवाल ने कहा- 'इतना तो हमारा एड का खर्चा है"

03, Feb 2017 By banneditqueen

एजेंसी. सालाना बजट बर्थडे पार्टी में बँटे केक की तरह होता है। किसी को बड़ा पीस मिलता है किसी को छोटा। सार यह है कि सबको बजट से खुश कर पाना नामुमकिन सा है। बजट के आते ही पूरे देश को चीफ कम्प्लेनर अरविंद केजरीवाल के बयान का इंतज़ार था। अरविंद केजरीवाल के द्वारा कई घंटों तक कोई बयान ना आने पर अरुण जेटली और समस्त भाजपा परिवार परेशान हो गया कि हर छोटी बात की ट्विटर पर शिकायत करने वाले अरविंद केजरीवाल ने अभी तक कोई बयान क्यों नहीं दिया।

Kejriwal4
कम बजट पर नाराज़ होते केजरीवाल

लम्बे इंतज़ार के बाद आज सुबह जाकर केजरीवाल का बयान आया। आम आदमी पार्टी के सूत्रों से पता चला कि केजरीवाल चुनावों में व्यस्त होने के चलते कोई बयान नहीं दे पाए। जैसे ही केजरीवाल जी को बजट के लिये फुरसत मिली उन्होनें तुरंत ही कहा “सेंटर ने दिल्ली के साथ भेदभाव किया है,कम से कम 1000 करोड़ दिल्ली को मिलने चाहिए थे। इतने में हमारा क्या होगा? इतने तो हमें रेडियो पर ऐड देने में ही कम पड़ जाएँगे। मोदी जी की ये तानाशाही बिल्कुल नहीं चलेगी। जितना बजट पहले से था वो सारा 500-1000 के नोट में था और इस कारण अब वह पूरी तरह बेकार हो गया।”

यही नहीं मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सरकार से वाई फाई के लिये भी बजट की माँग की है। मनीष सिसोदिया का कहना था कि “सरकार चाहती है कि दिल्ली की जनता को कई सुख सुविधा ना मिले, अगर हम वाई फाई लगवा भी दें तो जनता को इस बात की खबर पहँचाने के लिये हमें प्रचार भी तो करना पड़ेगा उसके लिये बजट कहाँ से आएगा?” मुख्यमंत्री ने देशवासियों से अपील की है कि आम आदमी पार्टी को बहुमत दे ताकि अपना बजट वे अपने हिसाब से बना सके।



ऐसी अन्य ख़बरें