Monday, 26th June, 2017
चलते चलते

बैंगलोर के ऑटोवाले ने माँगा 700 रूपये रिटर्न भाड़ा, कहा- "आपको घर छोड़कर अपने गाँव जाऊंगा"

20, Sep 2016 By Pagla Ghoda

बैंगलोर. इंदिरा नगर से व्हाइटफील्ड जाने वाले एक ग्राहक कौशिक जेम्स कुरुविल्ला के पैरों तले से उस समय ज़मीन खिसक गयी, जब एक ऑटोवाले ने उससे तीन सौ के बजाय हज़ार रूपये यह कहकर वसूल लिए कि सात सौ रूपये उसका रिटर्न भाड़ा है। कौशिक इस ‘रिटर्न भाड़े’ के सदमे से अभी तक नॉर्मल अवस्था में ‘रिटर्न’ नहीं हो पाया है।

Auto3
ऑटोवाले भैय्या से अपने पैसे वापस मांगती सवारियां

पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर कौशिक ने बताया कि “बिल 270 रूपये का था पर उसने कहा कि तीन सौ लेगा। मैंने कहा ठीक है। मैंने उसे हज़ार का नोट दिया तो उसने हंसकर कहा ‘ओके हो गया!’ मैं बोला- क्या भाई चेंज तो वापिस करो, तो उसने हाथ के इशारे से समझाया के उसको हिंदी नहीं आती। मैं बोला के मलयालम आता है? उसने उस पे भी सर हिला दिया। फिर उसने हाथ के इशारे से समझाया के उसको अपने गांव जाना है और सात सौ रूपये वो रिटर्न भाड़े के तौर पे वसूल करेगा। मेरा तो भाई माथा घूम गया। मैंने उससे उसी वक़्त हज़ार का नोट वापिस खींच लिया, तो वो भड़क गया, बोला “दे दे…अभी देता हूँ तेरा चेंज”, अब वो टनाटन हिंदी बोल रहा था।”

“मैंने नोट वापिस किया, लेकिन फिर उसने ऑटो स्टार्ट किया और भागने लगा, मैं उसके पीछे दो किलोमीटर भागा। फिर उसने एक ऑटो स्टैंड के पास रोका, जहाँ काफी सारे ऑटो वाले सुस्ता रहे थे। उसके एक इशारे पे सब एक साथ हो के मुझे घूरने लगे। काफी वाद-विवाद के बाद तय हुआ कि रिटर्न भाड़ा, ‘खाली आना’, ‘नाईट चार्ज’, ‘वेटिंग टाइम’ मिला-मिलू के कुल तेरह सौ रूपये बनते हैं और मुझ पे दया खा के वो सिर्फ ग्यारह सौ रूपये में मान जायेंगे। मुझे घेर लिया गया था इसलिए मुझे सौ रूपये अपनी जेब से और देने पड़े।”

एक नारियल पानी पीने के बाद कौशिक ने आगे कहा, “मैं इसकी रपट कराने पुलिस में भी जाने वाला था पर मुझे लगा कि आज मेरा दिन ही ख़राब है। अगर थाने गया तो एक डेढ़ हज़ार रुपया वहां भी चढ़ाने पड़ेंगे। सो मैं चुपचाप ऑफिस निकल गया, आठ घंटे काम किया, और घर वापिस लौट आया। अब कुछ महीने बस से जाऊंगा और हफ्ते में दो दिन ‘वर्क फ्रॉम होम’ करूँगा तो नुकसान की भरपाई हो जाएगी।”



ऐसी अन्य ख़बरें