Monday, 20th November, 2017

चलते चलते

रोहतक जेल से डेरे तक सुरंग खोदते पकड़े गए बाबा राम रहीम, 20 साल और बढ़ी सज़ा

12, Sep 2017 By बगुला भगत

रोहतक. बाबा गुरमीत राम रहीम को कल रात जेल में सुरंग बनाते हुए रंगे हाथों पकड़ लिया गया। बाबाजी यह सुरंग सुनारिया जेल से अपने सिरसा वाले डेरे तक खोद रहे थे। जिस समय उन्हें पकड़ा गया, तब वो अपनी कोठरी से डेरे की दिशा में 50 मीटर तक खुदाई कर चुके थे। जहाँ से चार सिपाही उनके भारी-भारकम शरीर को खींचकर वापस कोठरी में लाये।

insan
सुरंग से बाहर निकलते बाबा गुरमीत राम रहीम

सुनारिया जेल के जेलर रघुवीर सिंह ने बताया कि “बाबाजी ने ये सुरंग उसी दिन खोदनी शुरु कर दी थी, जिस दिन कोर्ट ने हनीप्रीत को उनके पास जेल में भेजने से इनकार कर दिया था। ‘ना’ सुनने के दस मिनट बाद ही बाबाजी खुदाई के काम पर लग गये थे।”

बाबाजी की इस हरकत का पता तब चला जब ड्यूटी पर तैनात सिपाही ने रात को उनकी ‘हाय-हाय’, ‘हनी-हनी’ और ‘चार्जर-चार्जर’ की आवाज़ नहीं सुनी। वो देखने गया कि बाबाजी ठीक तो हैं। उसने सलाख़ों से झाँक कर देखा तो बाबाजी कहीं दिखाई नहीं दिये। कोठरी का दरवाज़ा खोलकर देखा गया तो इस सुरंग का पता चला। वो मोटापे की वजह से सुरंग में ही फंसे हुए थे और चीख़-पुकार मचा रहे थे।

“एक्चुअली, बाबाजी हनीप्रीत के चक्कर में ये सुरंग खोद रहे थे। उन्हें पता नहीं था कि हनीप्रीत डेरे में नहीं है और वो फ़रार हो चुकी है। जब हमने उन्हें बताया कि हनीप्रीत का कहीं पता नहीं चल रहा है तो वो फूट-फूटकर रोने लगे।” -जेलर साब ने बताया।

बाद में, बाबाजी को पकड़कर जज के सामने ले जाया गया, जहाँ जेल से भागने की कोशिश के जुर्म में उनकी सज़ा 20 साल और बढ़ा दी गयी। जज साब ने उन्हें चेतावनी भी दी कि अगर फिर से सुरंग खोदने की कोशिश की तो उन्हें आसाराम की कोठरी में भेज दिया जायेगा।

उधर, बाबाजी के भक्तों को उम्मीद है कि बाबाजी अपनी शक्ति से जेल को तोड़कर किसी भी दिन बाहर आ जायेंगे। जेलर और सिपाहियों को भी वो वैसे ही हवा में उड़ा देंगे, जैसे अपनी फ़िल्मों में आतंकवादियों और एलियन्स को उड़ाते रहते हैं।



ऐसी अन्य ख़बरें