Sunday, 22nd April, 2018

चलते चलते

अरविंद केजरीवाल ने अमित शाह से माँगी 'अग्रिम माफ़ी', कहा- "लगाने वाला हूँ आरोप"

17, Mar 2018 By Guest Patrakar

नयी दिल्ली. देश की राजधानी में आजकल फ़ॉग के साथ-साथ माफ़ी का दौर भी चल रहा है। माफ़ी वो भी किसी ऐसे-वैसे बंदे से नहीं, ख़ुद दिल्ली के मालिक अरविंद केजरीवाल से! ख़बर है कि विक्रम मजीठिया और अरुण जेटली से माफ़ी माँगने के बाद अब केजरीवाल लोगों से अग्रिम यानी कि एडवाँस में माफ़ी माँग रहे है ताकि कोई और उन पर मानहानि का केस ना कर दे।

माफी मांगते अमित शाह
माफी मांगते अमित शाह

बड़े-बड़े लोगों पर बड़े-बड़े इल्ज़ाम लगा कर मशहूर हुए अरविंद केजरीवाल ने हाल ही में अमित शाह से भी अग्रिम माफ़ी माँग ली है। सूत्रों की माने तो अरविंद केजरीवाल ने ऐसा इसलिए किया है क्यूँ कि वह अमित शाह और उनके बेटे पर इल्ज़ाम लगाने वाले है। हमने इस बारे में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया जी से बात की और पूरी बात जानी। सिसोदिया जी ने कहा “अरविंद जी के माफ़ी माँगने के बाद पार्टी में बहुत हड़कम्प मच चुका है। लेकिन अरविंद जी ख़ुश है कि उन्हें अब कोर्ट के दर्शन नहीं करने पड़ेंगे। अरविंद जी और मैं शुरू से ही लोगों पर इल्ज़ाम लगा लगा कर आगे बढ़े है। अब इल्ज़ाम लगाने की हमारी आदत हो गयी है। लेकिन यह हमें जेटली और मजीठिया पर इल्ज़ाम लगाने के बाद पता चला कि मानहानि नाम की चीज़ भी कुछ होती है। इसलिए अब हम लोगों से पहले माफ़ी माँग कर बाद में इल्ज़ाम लगाएँगे । जिसकी शुरुआत हम भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और उनके बेटे जय शाह से करेंगे।”

हालाँकि अमित शाह इस सब से बिल्कुल ख़ुश नहीं है। फ़ेकिंग न्यूज़ से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा “अरविंद केजरीवाल ने मुझसे अग्रिम माफ़ी माँग ली है ताकि में मानहानि का केस ना करूँ। लेकिन मैं उसी क्षण का इंतज़ार कर रहा हूँ जब वो मुझपर झूठे इल्ज़ाम लगाए और मैं मानहानि का केस करूँ। हमने द वाइअर पर केस करके उनके पैसों से अपना नया मुख्यालय बनवा लिया अब केजरीवाल से मानहानि का केस जीत कर हम मुख्यालय के ऊपर एक मंज़िल और बनवा लेंगे।”

वैसे सोशल मीडिया पर अरविंद केजरीवाल के माफ़िनामे की ख़ूब धज्जियाँ उड़ायी गई। एक यूज़र ने लिखा कि “अगर हर बार एक झूठा इल्ज़ाम लगाने पर अरविंद केजरीवाल को एक रूपया मिलता तो वो अभी तक करोड़ों के मालिक होते और उन्हें चुनाव लड़ने के लिए डोनेशन भी नहीं माँगनी पड़ती।” केजरीवाल ने मुझसे अग्रिम माफ़ी माँग ली है ताकि में मानहानि का केस ना करूँ। ऐसा पहली बार नहीं है कि केजरीवाल को अपने शेखचिल्लीपने की वजह मुँह की खानी पड़ी हो। इस से पहले भी वो कई बार झूठ बोलने की वजह से कोर्ट से डाँट खा चुके है। हालाँकि उन्हें अब इसकी आदत हो जानी चाहिए। दुःख तो उन लोगों का होता है जो अपने दफ़्तर इत्यादि छोड़ कर इनके आंदोलन में पहुँचे थे। अब वो सब एक ही नारा लगाते नज़र आ रहे है : ‘घिस गई झाड़ु, जम गई धूल..केज़रीवाल ने बनाया हमें फूल’।



ऐसी अन्य ख़बरें