Tuesday, 25th July, 2017
चलते चलते

'नो-फ्लाई लिस्ट' में शामिल लोगों के मोबाइल से 'फ्लाइट मोड' भी हटाया जाये: एयर इंडिया ने की मांग

09, Apr 2017 By Dharmendra Kumar

नयी दिल्ली. वैसे तो एयर इंडिया ने शिवसेना सांसद रविंद्र गायकवाड़ से बैन हटाने का एलान कर दिया है लेकिन मामला अभी पूरी तरह शांत होता दिखायी नहीं दे रहा है। गायकवाड़ से बैन हटने के बावजूद लगभग सारी एयरलाइन्स लामबंद होकर एक सुर में ‘नो फ्लाई लिस्ट’ तैयार करने की मांग कर रही हैं। एयरलाइंस कह रही हैं कि देश में गायकवाड़ जैसे लोगों की एक ‘नो फ्लाई लिस्ट’ बननी चाहिये।

gaikwad
“किसकी हिम्मत है मेरे मोबाइल को हाथ लगाने की!”

लेकिन एयर इंडिया के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर अश्विनी लोहानी तो इससे भी दो क़दम आगे बढ़ गये हैं। लोहानी जी का कहना है कि “सिर्फ़ ‘नो फ्लाई लिस्ट’ बनाना ही काफ़ी नहीं है। गायकवाड़ जैसे लोगों के तो मोबाइल से भी ‘फ्लाइट मोड’ हटा देना चाहिये।”

सूत्रों के मुताबिक, सरकार भी लोहानी के सुझाव से सहमत दिखायी दे रही है। सूचना एवं प्रोद्योगिकी मंत्रालय ने इस बारे में सभी मोबाइल निर्माता कंपनियों को सर्कुलर जारी कर दिया है। मंत्रालय का कहना है कि “वैसे भी अगर किसी बंदे को फ्लाइट से जाना ही नहीं है तो फिर उसके मोबाइल में ‘फ्लाइट मोड’ रखने का क्या तुक है! उनके मोबाइल में ‘फ्लाइट मोड’ की जगह ‘कार मोड’, ‘ट्रेन मोड’ या फिर ‘पैदल मोड’ होना चाहिये।”

इस बीच, सरकार के इस क़दम का विरोध भी शुरु हो गया है। हवाई सफ़र करने वाले कुछ लोगों का कहना है कि अगर कोई पैसेंजर हवाई यात्रा में हमारा मनोरंजन करना चाहता है तो सरकार को उसे रोकना नहीं चाहिये। सोनू निगम ने भी तो फ्लाइट में ‘पंछी नदिया पवन के झोंके’ गाकर सह-यात्रियों का मनोरंजन ही किया था हाँ! वही काम गायकवाड़ जी ने दूसरे ढंग से किया, बस तरीक़े का ही तो फ़र्क़ है और क्या!”



ऐसी अन्य ख़बरें