Saturday, 23rd September, 2017

चलते चलते

लश्कर आतंकी अबु दुजाना कर रहा था धरती पर अय्याशी, जन्नत में 72 हूरें मिलने वाली बात पर था शक

01, Aug 2017 By banneditqueen

कश्मीर. मरने के बाद आतंकियों को जन्नत में 72 हूरें मिलती हैं ये बात तो आप सब ने सुनी होगी पर अब लगता है आतंकियों को इस बार शक सा होने लगा है। अब वे अपनी 72 हूरें धरती पर ही ढूंढ रहे हैं, और इसी चक्कर में सेना के हाथों मारे भी गए। सेना के हाथ से पहले भी बच चुका लश्कर आतंकी अबु दुजाना मंगलवार को उनका शिकार तब बना जब वो पुलवामा में अपनी पत्नी से मिलने आया।

ध्यान से देखे इस मासूम चहरे को
ध्यान से देखे इस मासूम चहरे को

गांवालों के मुताबिक अबु दुजाना एक नंबर का अय्याश था और उसके चलते वो किसी भी घर में घुस जाता था। एक गाँववाले ने बताया कि ”अबु को लड़कियों का बड़ा शौक था उसने मुझे बताया था कि इसीलिए वो आतंकी बना ताकी उसे मरने के बाद 72 हूरें मिल सकें। पर धीरे धीरे उसका लालच बढ़ता जा रहा था साथ ही साथ उसे इस बात पर शक भी था कि कहीं मरने के बाद भी एक भी लड़की नहीं मिली तो क्या होगा इसीलिए उसने गाँव में ही हूरें ढूंढनी शुरू कर दी और अपने मन से ही किसी भी घर में घुस जाता था।”

जब से अबू दुजाना के कारनामे बाहर आए हैं तब से बाकी आतंकवादियों का भी मन भटक रहा है और वो भी इसी कश्मकश में है कि जन्नत पहुंचने का इंतज़ार करें या फिर धरती पर ही खुद के लिए हूरें ढूंढें। इस बात से अब गांव वाले डरे हुए हैं कि कहीं उनकी बेटियां इन आतंकवादियों का शिकार न हो जाएं।



ऐसी अन्य ख़बरें