Thursday, 19th January, 2017
चलते चलते

कैडबरी बबली और चंकी के बाद आई कैडबरी चिंटू; लौकी और गिल्की के गुणों से होगी भरपूर

16, Sep 2016 By banneditqueen

दिल्ली. बाबा रामदेव के स्वदेशी नारे से अब मल्टीनेशनल कम्पनियाँ भी घबराने लगी हैं। बिस्किट के बाद बाबा ने त्वरित भूख मिटाने वाला न्यूट्री बार उतारा है।इससे घबरा कर कैडबरी भी न्यूट्री बार जैसा प्रोडक्ट मार्केट में लाने वाली है। बाबा की बढ़ती लोकप्रियता और मार्केट में बढ़ते कद से बराबरी करने अब कैडबरी एक अनोखे प्रकार की पौष्टिक चॉकलेट उतारने जा रही है। ‘बबली’ और ‘चंकी’ के बाद कैडबरी स्वदेशी नाम ‘चिंटू’ का इस्तेमाल करेगी कैडबरी चिंटू में लौकी और गिल्की के गुण होंगे।

बबली के खाली स्पेस में भरा जाएगा लौकी का जूस
बबली के खाली स्पेस में भरा जाएगा लौकी का जूस

कैडबरी के CEO ने बताया “इंडिया में अब लोग अपनी सेहत के प्रति जागरूक हो रहे हैं। यही कारण है कि लोगों का रुझान आयुर्वेदिक और स्वदेशी पदार्थों की तरफ बढ़ रहा है। कैडबरी में हमने लौकी और गिल्की के गुण इसीलिए मिलाए हैं क्योंकि ऐसा कोई भी प्रोडक्ट मार्केट में मौजूद नहीं है।” कैडबरी अब ऐसे ही और चॉकलेट्स बाज़ार में उतारेगी। लौकी और गिल्की के बाद टिंडे और बैंगन युुक्त चॉकलेट भी बाज़ार में धूम मचाने वाली है। कैडबरी चिंटू के लाँच से महिलाएँ काफी खुश हैं|

इंदौर की मनीषा अग्रवाल ने बताया कि ” जब से कैडबरी चिंटू बाज़ार में आई है सुबह का नाश्ता इसी से होता है, पहले बच्चे और मेरे पति लौकी की सब्ज़ी देख कर मुँह बनाते थे और अब तो रोज चाॅकलेट के साथ रोटियाँ गपागप खा जाते हैं।” मनीषा जी के पति राकेश का कहना है ” कैडबरी वालेे तो बाबा रामदेव से भी दो कदम आगे निकले, चॉकलेट में सब्जी! ऐसा तो कभी नहीं देखा!” ऐसे ही चलता रहा तो कुछ दिनों बाद सब्ज़ी में भी चाॅकलेट मिलाई जाएगी।



ऐसी अन्य ख़बरें