Thursday, 22nd June, 2017
चलते चलते

पचास साल पहले दादा की जान थीं हेमा, अब Kent RO की एड देखकर पोता भी हुआ लट्टू

13, Apr 2017 By बगुला भगत

पटना. बीजेपी सांसद और बॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्री हेमा मालिनी उम्र से बेशक बुढ़िया हो चुकी हों लेकिन त्वचा से उनकी उम्र का अंदाज़ा आज भी नहीं हो पाता। अड़सठ साल की होने के बावजूद ‘ड्रीम गर्ल’ की ख़ूबसूरती का आलम ये है कि पटना की झा फ़ैमिली की तीसरी पीढ़ी भी उनके रूप के मोहपाश में फंस चुकी है। इस परिवार के सबसे छोटे सदस्य प्रियांशु झा (16 वर्ष) को कल हेमा के ‘केंट आरओ’ वाले एड को देखकर आहें भरते हुए रंगे हाथों पकड़ा गया है।

Hema-7
दादा से लेकर पोते तक- सब हेमा के दीवाने

झा फ़ैमिली के मुखिया पुरुषोत्तम झा (70 वर्ष) ने बताया कि “तीन-चार दिन पहले हम टीवी पे मैच देख रहे थे, बीच में स्ट्रेटेजिक टाइम आउट हो गया तो हम चैनल बदलने लगे तो रितिक ने हमारा हाथ पकड़ लिया। देखा सामने हेमा की केंट आरओ की एड आ रही थी और उसका मुंह खुला हुआ था। हम समझ गये कि लौंडा गया काम से!”

पुरुषोत्तम जी ने फ़ैमिली की ‘हेमा-हिस्ट्री’ बताते हुए कहा कि “जब हमने हेमा को ‘सीता और गीता’ में देखा था तो मन ही मन उसे चाहने लगे। चाहत इतनी बढ़ी कि हेमा से मिलने के लिये भागकर हम मुंबई पहुंच गये। किसी तरह घरवाले मना कर लाये और ज़बरदस्ती हमारा ब्याह अशरफी से करा दिया।” फिर चारों तरफ़ देखकर फुसफुसाते हुए बोले कि “अब भी शाम को दो पेग लगाने के बाद कभी-कभार उसकी पुरानी फ़िल्में देख लेते हैं।”

इसके बाद उन्होंने बताया कि फिर उनके साहबज़ादे विमलेंदु भी हेमा के मोहजाल में फंस गये। विमलेंदु ने ‘सीतापुर की गीता’ में उन्हें घोड़े पे दौड़ते देखा तो उनसे ज़िद करके घोड़ा ही खरीदवा लिया। और अब ये तीसरी पीढ़ी! उनका पोता प्रियांशु कल ठीक-ठाक चलता हुआ एक्वागार्ड का आरओ उतारकर ले गया और केंट का ले आया।

“सच्ची कहूँ तो इस नयी वाली एड में तो वो और भी दस-पंद्रह साल छोटी लग रही है। हम बुड्ढे होकर मर भी जाएंगे लेकिन वो ऐसी की ऐसी ही रहेगी!” -पुरुषोत्तम जी अपने दाँतों के सेट को गिलास में रखते हुए बोले।



ऐसी अन्य ख़बरें