Monday, 29th May, 2017
चलते चलते

सिमर के 'मक्खी' बनते ही महिलाओं को हुआ मक्खियों से प्यार, लगा रही हैं उन्हें चीनी का भोग

17, May 2016 By बगुला भगत

नयी दिल्ली/मुंबई. ‘ससुराल सिमर का’ में सिमर के मक्खी बनते ही भारत में मक्खियों के ‘अच्छे दिन’ आ गये हैं। देश में महिलाओं को अचानक मक्खियों से प्यार हो गया है और उन्होंने उन्हें मारना-सताना बंद कर दिया है।

Simar2
मक्खी बनकर चीनी खाने को तैयार सिमर

वे मक्खियों को चीनी और तरबूज डाल रही हैं। कुछ जगह से तो उन्हें ‘मक्खी-माता’ बनाकर पूजने की ख़बरें भी आ रही हैं। पीतमपुरा में रहने वाली हरमन तनेजा भी मक्खियों की सेवा करने में कोई कसर बाक़ी नहीं छोड़ रही हैं।

लेकिन हरमन के पति प्रीतइंदर उनके इस मक्खी-प्रेम से बिलबिलाते फिर रहे हैं। हमारे संवाददाता को अपने घर की हालत दिखाते हुए प्रीतइंदर ने कहा- “ये देखो! सारा घर नरक बना दिया है। हर जगह मक्खियां भिनभिना रही हैं। दो दिन में हमारी पांच किलो चीनी ग़ायब हो चुकी है।”

“और आज तो हद ही हो गयी! मैं ऑफ़िस से लौटा तो देखा कि ये हथेली पे चीनी डालकर मक्खी से बात कर रही है।”

“मैं इस एकता कपूर को छोड़ूंगा नहीं!” -उन्होंने ग़ुस्से से भड़कते हुए कहा। जब हमारे संवाददाता ने उन्हें याद दिलाया कि “लेकिन ये सीरियल तो एकता कपूर का नहीं है।”, “लेकिन ये चुतियापा चालू तो उसी ने किया था।” -कहते कहते वो चप्पल उठाकर एक मक्खी के पीछे दौड़ पड़े।

वहां से हमारा संवाददाता ‘ससुराल सिमर का’ के सेट पर पहुंचा, जहां सीरियल की प्रोड्यूसर रश्मि शर्मा ने बताया कि “अगले एपिसोड में हम पाताली देवी को छिपकली बनाकर फिर से एंट्री कराने वाली हैं, जो मक्खी बनी सिमर को खाने की कोशिश करेगी।”

“फिर सात-आठ महीने तक दोनों की लड़ाई चलती रहेगी। उसके बाद छिपकली बनी पाताली सिमर को खा जायेगी लेकिन सिमर फिर भी नहीं मरेगी। वो छिपकली के पेट में माता रानी का जाप करेगी और उसकी पॉटी के रास्ते ज़िंदा बाहर आ जायेगी। है ना कमाल का ट्विस्ट!” -रश्मि ने मुस्कुराते हुए कहा।



ऐसी अन्य ख़बरें