Wednesday, 20th September, 2017

चलते चलते

कंगना रानौत के समर्थन में आगे आए राहुल गाँधी, कहा- 'बंद होना चाहिए परिवारवाद'

22, Jul 2017 By Ritesh Sinha

मुंबई. फिल्म इंडस्ट्री में इन दिनों परिवारवाद की चर्चा जोरों से हो रही है, एक ओर जहाँ करन जौहर, वरुण धवन, और सैफ के निशाने पर कंगना रानौत हैं, तो वहीँ कंगना भी उनका खुलकर जवाब दे रही है। गौरतलब है कि अब तक बॉलीवुड से कोई भी कंगना के समर्थन में आगे नहीं आया है।

परिवारवाद नहीं चलेगा
परिवारवाद नहीं चलेगा

अब राहुल गाँधी भी इस बहस में कूद पड़े हैं। एक प्रेस कांफ्रेंस में कंगना का समर्थन करते हुए उन्होंने कहा कि “मैं इस लड़ाई में कंगना के साथ हूँ! मेरा बचपन से मानना है कि इस देश से परिवारवाद ख़त्म होना चाहिए। और सिर्फ कांग्रेस पार्टी ही इस देश की ऐसी एकमात्र पार्टी है, जो परिवारवाद से मुक्ति दिला सकती है। विचारधारा की लड़ाई हम लड़ते रहे हैं और आगे भी इसे लड़ते रहेंगे।”

“देखो भैया! जिस तरह नेता का बेटा नेता नहीं होना चाहिए, उसी तरह एक्टर का बेटा एक्टर नहीं हो सकता। ये एक्टर के बेटा-बेटी अपने मम्मी-पापा के भरोसे अपनी फिल्म निकाल लेते हैं, और नये कलाकार इंडस्ट्री में आ ही नहीं पाते। और ये सब मोदीजी की वजह से हो रहा है भैया! जब हमारी सरकार थी तो हमने करन जौहर को बाँध कर रक्खा था, जब से केंद्र में भाजपा/आरएसएस की सरकार आई है, करन जौहर हर साल नये-नये लोगों को लांच कर रहा है। अब ये नहीं चलेगा भैया!”-कहते हुए उन्होंने कुछ फिल्मों के पोस्टर पत्रकारों के सामने ही फाड़ दिए, जिन्हें वे अपने साथ लेकर आए थे।

पोस्टर फाड़ने के बाद वे फिर से गरजे, “हम ये सब ख़त्म करना चाहते हैं, इसलिए हम मुंबई में एक “परिवारवाद भगाओ” रैली का आयोजन करेंगे, और इसे जड़ से उखाड़ फेकेंगे।” -उन्होंने अपना एक हाथ जोर से उठाते हुए कहा, और चलते बने। उनके इस एलान के बाद “परिवारवाद भगाओ” रैली की तैयारी शुरू हो गई है, इस अभियान के तहत कांग्रेस के कार्यकर्त्ता सड़कों पर उतरेंगे और कपूर्स, खांस, खन्नास, और चोपड़ा’स इन सबका पुतला, थोक के भाव फूकेंगे। उधर, कंगना ने इस रैली के बारे में कुछ भी बयान देने से इनकार कर दिया है।



ऐसी अन्य ख़बरें