Saturday, 23rd September, 2017

चलते चलते

"साउथ की फिल्मों का रीमेक बनाना बंद करो" -'मन की बात' में मोदी जी की बॉलीवुड से अपील

31, Jul 2017 By Ritesh Sinha

मुंबई. कई सालों से बॉलीवुड का सारा कारोबार साउथ की ऊल-जुलूल फिल्मों का रीमेक बनाकर ही चल रहा है। शोर-शराबे और दुनिया भर की नौटंकी से भरी इन फ़िल्मों के रीमेक से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मन भी बहुत खिन्न है। उन्होंने बॉलीवुड के लोगों से इस गंद को बंद करने की अपील की है।

South Indian Remake
सबसे ज़्यादा दुखी इस रीमेक से हुए हैं मोदी जी

अपने ‘मन की बात’ कार्यक्रम में कल प्रधानमंत्री मोदी ने देश को संबोधित करते हुए कहा कि “भाइयों और बहनों! कब तक ये बॉलीवुड वाले चोरी कर-करके पैसा कमाते रहेंगे! ये रुकना चाहिए कि नहीं? देश जानना चाहता है! आप खुद की अच्छी कहानी लेकर आओगे कि नहीं? कुछ अपना भी दिमाग लगाइए और दर्शकों का मनोरंजन कीजिए। एक्शन फिल्म के नाम पर कुछ भी पेल देने से काम नहीं चलेगा!”

प्रधानमंत्री की इस अपील के बाद कई फिल्म निर्देशक भड़क गए हैं। रोहित शेट्टी ने जवाबी हमला बोलते हुए कहा कि, “हम कैसी भी पिक्चर बनाएं इससे मोदी जी को क्या लेना-देना? मैं तो अभी हैदराबाद से तीन फिल्मों के राइट्स खरीदकर आ रहा हूँ- ‘खूनी खलनायक’, ‘कौन बनेगा हत्यारा’ और..एक है ‘जमाने को फोड़ दूंगा’ अब इन सबका रीमेक हिंदी में बना के लांच करूँगा। देखता हूँ कौन रोकता है मुझे! पहले तो कार हवा में उड़ाता था, अब की बार तो दस-बीस बसों को हवा में उड़ाऊंगा!” -शेट्टी अन्ना ने बाजू चढ़ाते हुए कहा।

वहीं एक और डायरेक्टर ने नाम ना छापने की शर्त पर बताया कि “छोड़ो यार कहाँ लगे हो! कौन नई कहानी ढूंढेगा? किसके पास इतना टाइम है आजकल? अवार्ड फंक्शन अटेंड करने में ही छः महीने निकल जाते हैं! इसलिए हम तो चेन्नई और हैदराबाद से ही मसाला मंगवा लेते हैं, उसमें अक्षय कुमार या अजय देवगन को फिट कर देते हैं। दो-चार बेतुके गाने दाल दो, फाइटिंग सीन में बीस लीटर खून बहते हुए दिखा दो, बन गई नई फिल्म! ऑरिजनल पिक्चर बनाने की टेंशन कौन ले!”



ऐसी अन्य ख़बरें