Thursday, 18th January, 2018

चलते चलते

'पद्मवाती' देखने आये दर्शक राष्ट्रगान और मुकेश की एड देखकर चले जाएंगे अपने घरः सेंसर बोर्ड

30, Dec 2017 By बगुला भगत

मुंबई. सेंसर बोर्ड ने आख़िरकार ‘पद्मावती’ फ़िल्म को रिलीज़ करने की मंज़ूरी दे ही दी लेकिन एक बदले हुए नाम और बदले हुए साइज़ के साथ! फ़िल्म को पास करते हुए बोर्ड ने कहा है कि पद्मावती अब ‘पदम सिंह’ के नाम से रिलीज़ होगी।

Padmavati-Deepika-Padukone
सेंसर बोर्ड से रिलीज़ की भीख़ माँगती पद्मावती

सेंसर बोर्ड ने पद्मावती की अवधि भी घटाकर काफ़ी कम कर दी है। पद्मावती देखने की इच्छा रखने वाले लोग अब सिर्फ़ राष्ट्रगान गाकर और मुकेश हराने की एड देखकर घर लौट जाएंगे।

बोर्ड के अध्यक्ष प्रसून जोशी ने मीडिया को जानकारी देते हुए कहा कि “हमें ऐसा काम करना चाहिये, जिससे हमें कुछ ना कुछ सीखने को मिले। सिनेमा हॉल में राष्ट्रगान गाने से देशभक्ति की भावना जगती है और मुकेश हराने की एड देखकर सिगरेट और गुटखा-खैनी से दूर रहने की नसीहत मिलती है।”

“अब इसके बाद देखकर क्या करना है! आगे देखकर तो दर्शक गंदी बातें ही सीखेंगे ना! फालतू की चूमा-चाटी और मारा-मारी देखने से क्या फ़ायदा!” -उन्होंने ‘छी…छी’ करते हुए कहा।

फ़िल्म की लंबाई घटने की वजह बताते हुए जोशी जी ने कहा कि “राजघराने की माँग पर हमने भंसाली से वे सारे सीन हटाने को कहा है, जिनमें दीपिका पादुकोण नज़र आ रही है क्योंकि उससे राजपूतों की जान सुलगती है। इस वजह से फ़िल्म की लंबाई काफ़ी कम हो गयी है।”

इससे पहले, फ़िल्म के नाम को लेकर सेंसर बोर्ड के सदस्यों और रिव्यू कमेटी के बीच कई घंटों तक माथापच्ची हुई। बोर्ड के एक मेंबर ने सुझाव दिया कि फ़िल्म का नाम बदलकर ‘पदमा’ या ‘पदम सिंह की ग्रैंड मस्ती’ या ‘गोलमाल ही गोलमाल’ जैसा कुछ रख देना चाहिये। अंत में ‘पदम सिंह’ पर ही सहमति बनी क्योंकि वो पद्मावती के ज़्यादा नज़दीक है।



ऐसी अन्य ख़बरें