Tuesday, 28th February, 2017
चलते चलते

स्टार प्लस के सभी सीरियल्स अब रविवार को भी,पुरुषों ने की टीवी प्रोग्राम में आरक्षण की माँग

23, Feb 2016 By banneditqueen

मुंबई: जाट आरक्षण की माँग से भड़की आग अब टीवी पर भी पहुँच चुकी है | गौरतलब है कि पिछले सप्ताह ही संध्या बींदनी,गोपी बहू और काजल ने स्टार प्लस पर ये घोषणा की कि महिलाओं के चहेते कार्यक्रम अब रविवार को भी प्रसारित किये जाएंगे | इसके चलते कई महिलाओं ने रविवार को खाना बनाने से इंकार कर दिया है|

saas bahu serial
सातों दिन, आठों पहर, टीवी पर इनका पहरा

करोल बाग निवासी मकड़ी मामा ने हमारे संवाददाता बताया कि उनकी पत्नी शरमीली बाई के रोज़ शाम स्टार प्लस देखने के चलते वे समाचार नहीं देख पाते मजबूरन उनहें “दिया बाती”और “ये रिशता क्या कहलाता है” देखना पड़ता है| वे कहते हैं कि “अभी तीन महीने पहले ही नक्श का कालेज में एडमिशन हुआ था और अब उसकी शादी है, भाभो हर चौथे महीने संध्या से नाराज़ हो जाती है और संध्या दो महीने उनहें मनाने में निकाल देती है| अक्षरा का जब ऐक्सीडेंट हुआ था तब मेरी पत्नी दो घंटा रोई| ऐसी बकवास से कम से कम संडे को छुटकारा मिलता था अब तो वो भी नहीं| “ पुरुष आयोग के सचिव पप्पू यादव ने जानकारी दी कि कल शाम को स्टार प्लस केऑफिस के बाहर धरना प्रदर्शन है, उनकी माँग है कि हफते में दो दिन कोई सीरियल न दिखाया जाए या कम से कम टीवी पर दो दिन का आरक्षण पुरूषों को दिया जाए | उन्होंने कहा कि “ये नाइंसाफी कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे, अगर ऐसा ही चलता रहा तो मजबूरन हमें केबल टी.वी वालो के तार काटने पड़ेंगे जरूरत पड़ी तो टाटा और डिश वालों के उलटे छातों में पानी भर देंगे| मोदी राज में पुरूषों का दमन किया जा रहा है| बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर हम पुरुषों को ऐसे जानलेवा सीरियल्स से कौन बचाएगा ?” इस खबर पर मशहूर जर्नलिस्ट सागरिका जी चुटकी लेते हुए ट्वीट किया –

picsay-1456221969866

इस पर उनहें कविता कृष्णन,नंदिता दास जैसी हस्तियों का समर्थन मिला,ट्वीट पर बवाल होने पर कई और महिला मोर्चा समितियाँ भी उनके बचाव में आगे आई हैं| प्रख्यात निर्देशक प्रकाश झा आरक्षण के सीक्वेल में इस घटना को सम्मिलित करने पर विचार विमर्श कर रहे हैं |



ऐसी अन्य ख़बरें