Thursday, 18th January, 2018

चलते चलते

"कपिल की मूवी 'फिरंगी' को दो बार देख बैठा युवक, डॉक्टरों ने किया फॉरेन रेफ़र

11, Dec 2017 By Ritesh Sinha

मुंबई. एक चौका देने वाली घटना में डॉक्टरों ने उस युवक का इलाज करने से मना कर दिया जिसने कपिल शर्मा की फिल्म “फिरंगी” दो बार देखी है। डॉक्टरों का कहना है कि जिसने भी यह गलती दो बार की है, उसका इलाज इंडिया में संभव नहीं है। बस, इसी वजह से डॉक्टरों ने मरीज को विदेश ले जाने की सिफारिश कर दी। ताकि उसका इलाज किसी बड़े अस्पताल में कराया जा सके। पीड़ित युवक का नाम हिमांशु भार्गव बताया जा रहा है।

बार बार देखने की चीज़ नहीं ये
बार बार देखने की चीज़ नहीं ये

दरअसल वह कपिल शर्मा की कॉमेडी का बहुत बड़ा फैन है। फिल्म रिलीज से दो महीने पहले ही उसने ठान लिया था कि वह यह फिल्म जरूर देखेगा। सो एक दिसंबर को जैसे ही फिल्म रिलीज हुई, वह लपककर ‘सनिमा’ पहुँच गया। पहली बार में तो उसे जरा भी हंसी नहीं आई। मजबूरी में उसने एक बार और टिकट खरीदी और फिर से सनिमा में दाखिल हो गया। इस बार भी उसकी मुलाक़ात एक भी जोक्स से नहीं हुई। बेचारा ठगा सा महसूस करने लगा।

इस घटना की जानकारी जब उसके पैरेंट्स को हुई तो उनका रो-रोकर बुरा हाल हो गया। उन्होंने तुरंत हिमांशु को रिक्शे में डाला और ले गए स्व. जगमोहन लाल प्राइवेट अस्पताल। जब वे हिमांशु को लेकर वहां पहुंचे तो वहां दो-चार लोग और थे जिन्होंने “फिरंगी” एक बार देखी थी। लेकिन हिमांशु की बात अलग है, वो उन सबसे सीनियर था, क्योंकि उसने फिलीम दो बार झेल ली थी। इलाज के दौरान जब हिमांशु की बारी आई तो डॉक्टरों ने अपने हाथ खड़े कर दिए और उन्हें तुरंत फॉरेन रेफर कर दिया।

JLP अस्पताल में ‘मनोरोग विभाग’ के इंचार्ज डॉक्टर सुग्रीव कुमार ने बताया कि, “देखिए! ऐसी बात नहीं है कि हमारे अस्पताल में इलाज की सुविधा नहीं है, हर सुविधा है! ये देखिए! करोड़ों रूपए के आधुनिक मशीन हमारे यहाँ उपलब्ध हैं! लेकिन जिन्होंने “फिरंगी” दो बार देख ली हो उसका इलाज यहाँ नहीं हो सकता! इसलिए हमने हिमांशु को लंदन वगैरह ले जाने के लिए कह दिया है!”

हालाँकि, अब तक पता नहीं चला है कि हिमांशु ने यह कारनामा कैसे कर लिया। जिस फिल्म को लोग एक बार भी नहीं देखना चाहते उसे इसने दो-दो बार देखने की बेवकूफी कैसे कर दी। हालाँकि, हिमांशु ने दावा किया है कि वो अब बिल्कुल ठीक है। उधर, उसके पैरेंट्स जरा भी रिस्क लेना नहीं चाहते और उन्होंने पॉसपोर्ट के लिए आवेदन कर दिया है।



ऐसी अन्य ख़बरें