Thursday, 14th December, 2017

चलते चलते

"शाहिद को 'रतन सिंह' और रणवीर को 'खिलजी' बनाने से हुई हैं हमारी भावनाएं आहत"- करणी सेना

15, Nov 2017 By बगुला भगत

जयपुर. करणी सेना के अध्यक्ष लोकेंद्र सिंह कालवी ने ‘पद्मावती’ के विरोध की असली वजह का ख़ुलासा कर दिया है। फ़ेकिंग न्यूज़ को दिये एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में कालवी ने कहा है कि “हमें फ़िल्म से कोई प्रॉब्लम नहीं है, असल में हमें प्रॉब्लम फ़िल्म की स्टारकास्ट से है।”

Padmavati-Ranveer-Shahid
खिलजी बने रणवीर और रतन सिंह बने शाहिद

“स्टारकास्ट…मतलब?” -फ़ेकिंग न्यूज़ के रिपोर्टर ने हैरानी से पूछा। “मतलब ये कि शाहिद को रतन सिंह बनाकर भंसाली ने हम राजपूतों का अपमान किया है।” -कालवी ने दाँत पीसते हुए कहा। “वो कैसे?” -रिपोर्टर ने फिर पूछा। इस पर कालवी ने मोबाइल स्क्रीन की ओर इशारा करते हुए कहा, “तुमने पिक्चर का ट्रेलर देखा है या नहीं?” “जी, देखा है!” -रिपोर्टर थूक गटकते हुए बोला।

“तो उस भंसाली ने शाहिद को रतन सिंह और रणवीर को खिलजी बनाकर ठीक किया है क्या?” -यह कहकर उन्होंने अपनी मूँछों पर ताव दिया और फिर हाथों को हवा में उठाते हुए बोले, “खिलजी लंबा-चौड़ा और रतन सिंह बच्चा सा! ये राजपूतों का अपमान नहीं तो और क्या है?”

“लंबा-चौड़ा दिखाना था हमारे रतन सिंह को और उसने दिखा दिया उस खिलजी को! दीपिका के साथ उस टिंगू शाहिद के जितने भी सीन हैं, उनमें वो उसके सामने बच्चा लग रहा है। तो पब्लिक तो फ़िल्म देखते हुए यही सोचेगी ना कि जोड़ी तो दीपिका और रणवीर की ही जम रही है…यानि पद्मावती और खिलजी की!”

“अब हम सिर्फ़ एक ही शर्त पे फ़िल्म रिलीज़ होने देंगे। अगर भंसाली, शाहिद को खिलजी और रणवीर को रतन सिंह बनाकर पूरी पिक्चर फिर से शूट करे तो हमें कोई प्रॉब्लम नहीं है। फिर हम अपने हाथों से उसे पूरे देश में रिलीज़ कराएंगे!” -कालवी जी ने अपनी शर्त रखते हुए कहा।

उधर, इस शर्त को सुनकर भंसाली को चक्कर आ गया, जिसके बाद उन्हें हॉस्पिटल में भर्ती कराना पड़ा। जहाँ वो बेड पर पड़े-पड़े बड़बड़ा रहे हैं- “जो बिना फ़िल्म देखे हल्ला काट दे, वो राजपूत! जो फालतू में अपनी भावनाएं आहत कर ले…वो राजपूत! और जो भले-चंगे आदमी को भी हॉस्पिटल पहुँचा दे, वो राजपूत!”



ऐसी अन्य ख़बरें