Friday, 20th October, 2017

चलते चलते

'हाउसफुल-3' के पीड़ितों को कोई मुआवज़ा नहीं देगी केंद्र सरकारः जेटली

06, Jun 2016 By बगुला भगत

नयी दिल्ली. केंद्र सरकार ने ‘हाउसफुल-3’ के पीड़ितों को मुआवज़ा देने से इनकार कर दिया है। सरकार का कहना है कि इस हादसे का शिकार होने वाले लोग ख़ुद इसके लिये ज़िम्मेदार हैं।

Housefull 3
हाउसफुल-3 देखकर सिनेमाघर में अचेत पड़ा एक दर्शक

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अरुण जेटली ने इस फ़ैसले की जानकारी देते हुए बताया कि “हम पिछले 6 महीने से लोगों को इस ख़तरे के बारे में अलर्ट कर रहे थे। फिर भी अगर कोई मरना चाहे तो इसमें सरकार क्या कर सकती है?”

“हमने तो सोशल मीडिया पर दो महीने पहले से चेतावनी देना शुरु कर दिया था कि #2MonthsToGoForHousefull3, फिर भी लोग नहीं माने।”

सरकार से मदद की आस लगाये बैठे ‘हाउसफुल-पीड़ितों’ को इस फ़ैसले से गहरा धक्का लगा है और उन्होंने देश में जगह-जगह विरोध-प्रदर्शन शुरु कर दिये हैं।

फ़िल्म समीक्षक कोमल नाहटा का कहना है कि “पब्लिक ने हाउसफुल के पिछले हादसे से भी कोई सबक नहीं लिया। वे इस धोख़े में रह गये कि इस बार फ़िल्म का डायरेक्टर साजिद ख़ान नहीं है, तो शायद वे बच जायेंगे।”

“लेकिन वे भूल गये कि इस बार ख़तरा डबल था क्योंकि इस बार साजिद नाम के चू@%#% के साथ फरहाद भी था और रितेश के साथ अभिषेक भी था।”

उधर, कांग्रेस के प्रवक्ता अजय माकन ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि “यहां लोग हाउसफुल देख-देखकर मर रहे हैं और प्रधानमंत्री स्विट्ज़रलैंड और अमेरिका की सैर कर रहे हैं।”

फिर उन्होंने कांग्रेस की रणनीति का खुलासा करते हुए कहा- “हाउसफुल-पीड़ितों और उनके परिजनों से मिलने के लिये राहुल जी लिये जल्दी ही पूरे देश का दौरा करेंगे।”

इसके बाद श्री माकन ने दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल को चैलेंज करते हुए कहा कि “हर फ़िल्म का रिव्यू करने वाले केजरीवाल में अगर हिम्मत है तो हाउसफुल-3 का रिव्यू करके दिखायें!” फिर वो ऑफ़ द रिकॉर्ड बोले कि “अगर वो इस बार हॉल में घुस गये तो शायद दिल्ली की जनता को भी उनसे हमेशा के लिये छुटकारा मिल जायेगा।”



ऐसी अन्य ख़बरें