Thursday, 21st September, 2017

चलते चलते

ढिन्चक पूजा से तुलना किया जाने पर भड़के हनी सिंह, कहा- "यूथ लेम्बोर्गिनी चाहता है स्कूटर नहीं"

28, Jun 2017 By Pagla Ghoda

गुरुग्राम. मिलेनियम सिटी के मशहूर सुपर स्टार हिप हॉप सिंगर यो यो हनी सिंह वैसे तो अपने सभ्य और शिष्टाचारी व्यवहार के लिए प्रख्यात हैं, परन्तु कभी-कभी उनका भी पारा सातवें आसमान पर चढ़ जाता है। कुछ यही हुआ कल शाम एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान, जब एक पत्रकार ने हनी सिंह की तुलना ढिन्चक पूजा से कर डाली।

Honey Singh
ढिन्चक से तुलना करने वाले पत्रकार पर पिस्टल तानते यो यो

हुआ ये कि हनी सिंह अपनी अगली एल्बम “मैंगो के खेत में टैंगो” के प्रचार के लिए एक प्रेस कांफ्रेंस कर रहे थे। तभी एक पत्रकार ने उनसे सवाल किया कि “जैसे आपने वोडका की बोतल और ब्लू आईज पर गाने बनाये, वैसे ही अब ढिन्चक पूजा जैसे नये होनहार आर्टिस्ट सेल्फी और स्कूटर पे गाने बना रहे हैं, इस बारे में आपका क्या कहना है?” यह सुनते ही हनी सिंह भड़क उठे और उन्होंने उस पत्रकार को आड़े हाथों लिया।

अपनी कमीज के कफ फोल्ड करके बाज़ू ऊपर चढ़ाते हुए हनी सिंह गरजे, “नी मतलब आप कहना क्या चा रे हो भाईसाब? अब हम जैसे अवार्ड विनिंग सिंगर, परफ़ॉर्मर और म्यूजिक प्रोडूसर का कम्पेरिज़न सेल्फी वाली छोरी से करोगे? हमारे गानो में न भाईसाब जी देश के यूथ की आवाज होत्ती है। एक लय, सुर और एक ताल का पूरा फाइन बैलेंस होत्ता है। देश का सबसे बड़ा सुपरस्टार है ये हनी सिंह, आपको कैसे नी पता? आपके घर अखबार नी आत्ता?”

अपने इनहेलर से दो कश मारने के बाद हनी सिंह थोड़ा शांत हुए, फिर कैनेडियन एक्सेंट वाली अंग्रेजी में बोले, “Do you know brother that I use authentic Lamborghini cars and imported Russian babes in ma videos? स्कूटर नी चलाता पाजी मैं अपने वीडियोस में। क्योंकि देश का यूथ स्कूटर तो सन उन्नीस सौ नब्बे में छोड़ चुका है भाई साब! अब तो हर कोई फॉरेन कार्ज़ और विदेशी कुड़ियां, इन्हीं का दीवाना है। यूथ के बीच जा-जाके मैं उनकी यही सब स्टडी तो करता रहता हूँ। महीनों का रिसर्च और खून पसीना लगता है सर एक-एक वीडियो बनाने में, म्यूजिक तो बाद में मैं दस मिनट में लिख के गा लेता हूँ।”

जब हनी सिंह से पूछा गया कि “जब वो अपने एक सॉन्ग में मंकी कैप पहने साइकल पे घूमते दिखाई पड़े थे तो उनका कूलनेस कोशिएन्ट कहाँ गया था?”, तो हनी सिंह ने उसे स्क्रिप्ट की डिमांड बताते हुए एक्सेंट वाली अंग्रेजी में काफी देर तक सफाई दी। बाद में उन्होंने दबे शब्दों मैं स्वीकार किया कि यूथ की पल्स को समझने में उनसे कभी-कभी गलती भी हो जाती है, इसलिए उन्होंने इस काम को अब इनफ़ोसिस और टीसीएस को आउटसोर्स कर दिया है, ताकि सस्ते में बढ़िया काम हो जाए।



ऐसी अन्य ख़बरें