Thursday, 24th August, 2017

चलते चलते

'बाहुबली-2' देखकर लौटे युवक के मुंह पर घरवालों ने लगा दिया टेप, मोबाइल भी छीना

28, Apr 2017 By Ritesh Sinha

रायपुर. दीपक बाघमारे, फिल्म ‘बाहुबली’ का बहुत बड़ा फैन है। इतना बड़ा फैन कि कटप्पा और प्रभाश की तो बात ही छोड़ दीजिए, दीपक के सपने में तो ‘कालकेय’ भी आ जाते थे। लेकिन वो कालकेय को भी अपने सपने में देखकर ज़रा भी नहीं मानता था क्योंकि उसे बाहुबली के हर किरदार से प्यार था। यही वजह है कि ‘बाहुबली-2’ के आने पर वह फिल्म का ‘फर्स्ट शो’ देखने सबसे पहले सिनेमा हॉल पहुँच गया।

Baahubali-2.2
दीपक पर हुए अत्याचार की वजह

सुबह सिनेमा जाने से पहले उसने अपने दोस्तों को घायल करने के लिए, फिल्म के टिकट का स्क्रीनशॉट लेकर, दो-चार ट्वीट भी कर दिये। दोस्त यह देखकर उसे मैसेज करने लगे “साला! अकेले ही जा रहा है! हमारी याद नहीं आई तुझे।” दीपक ने इन सवालों का जवाब देना उचित नहीं समझा और वह सुबह नहा-धोकर फिल्म देखने चला गया।

फर्स्ट शो ख़त्म होने के बाद, उसने दो चार सेल्फी सिनेमाघर के मेन-गेट पर मारीं, बाइक पकड़ी और गाने गुनगुनाता हुआ घर वापस आ गया। जैसे ही वो अपने घर में दाखिल हुआ, उसे पीछे से किसी ने पकड़ लिया। दीपक डर गया और चिल्लाया “कौन है? छोड़ो मुझे! छोड़ो!” तभी उसके पापा सामने आये और उसके मुंह पर टेप मार दिया। टेप मारने के बाद उसके हाथ-पैर भी बाँध दिये और सोफे पे ले जाकर पटक दिया गया।

दीपक का ये हाल उसके घरवालों ने इसलिये किया क्योंकि वे नहीं चाहते थे कि वो घर में आते ही बताने लगे कि ‘कटप्पा ने बाहुबली को क्यों मारा था?’ दीपक के पापा सोहन बाघमारे ने बताया कि “हमारा लड़का तो जी एक नंबर का बड़बोला है, कोई बात इसके पेट में हजम ही नहीं होती। इसीलिए हमें उस पर ये अत्याचार करना पड़ा। अब जब तक हम बाहुबली देखकर नहीं आ जाते तब तक ये ऐसे ही बंधा रहेगा। हमने इसका मोबाइल भी छीन लिया है!”

इस बीच, दीपक की मम्मी अन्दर से कुछ परांठे लेकर आई और उससे बोली कि “चल! खाने के लिए थोड़ी देर के लिए मुंह खोल रही हूँ, लेकिन ख़बरदार! अगर एक शब्द भी मुंह से निकाला तो…!” -कहते हुए उन्होंने उसके मुंह से पट्टी हटा दी। दीपक भी हालात की गंभीरता को समझ गया है और उसने निर्णय लिया है कि अब वह कुछ दिन तक ऐसे ही चुपचाप गुजारा कर लेगा।



ऐसी अन्य ख़बरें