Monday, 27th February, 2017
चलते चलते

फ़ेकिंग फ़िल्म रिव्यूः बेफ़िक्रे

09, Dec 2016 By बगुला भगत

‘बेफ़िक्रे’ का ट्रेलर देखने के बाद पब्लिक हाथ-मुँह धोकर बैठ गयी थी कि चलो फिलिम में कुछ और नहीं हुआ तो कम से कम होलसेल में ‘किस’ तो देखने को मिलेंगे ही! लेकिन बेचारी पब्लिक को क्या पता था कि उसे इतने ‘ठंडे’ और ‘थकेले’ ‘किसों’ के दर्शन होंगे कि उन्हें ‘किस’ के नाम से ही उल्टी होने लगेगी।

Befikre1
ये पोस्टर देख लो या पूरी फ़िल्म, बात एक ही है!

तो साहेबान! फिलिम की कहानी (अगर उसे कहानी कहें तो!) ये है कि लड़का-लड़की मिलते हैं, उनमें प्यार…नहीं…नहीं…सेक्स हो जाता है। सेक्सोपरांत दोनों वादा करते हैं कि वे ‘आईलवयू’ नहीं बोलेेंगे। लेकिन उन बेचारों को क्या पता कि वे एक-दूसरे से प्यार कर बैठे हैं, जिसका पता उन्हें लास्ट के सीन में जाकर चलेगा। बीच में दोनों थोड़ा ब्रेक-अप…ब्रेक-अप भी खेल लेते हैं।

तो लास्ट में जब दोनों किसी और से शादी करने वाले होते हैं- और वो भी एक ही मंडप में! तो हीरो हमारी हीरोइन को बोल देता है- आईलवयू! दोनों मिल जाते हैं और बाकी सब चू@#$ की तरह खड़े देखते रह जाते हैं!

कुछ देखा और सुना हुआ सा लग रहा है ना! वही कन्फ्यूजन, वही ‘वी आर जस्ट फ्रेंड्स!’

बॉलीवुड में हर हफ़्ते ऐसी फ़िल्म आती है, जिसमें हीरो-हीरोइन कन्फ़र्म नहीं हैं कि उन्हें एक-दूसरे से प्यार है या कुछ और! इस कन्फ़्यूजन की वजह से वे किसी साइड हीरो या हीरोइन से सगाई कर लेते हैं और फिर लास्ट सीन में उस बेचारे को ‘डिच’ कर देते हैं और एक हो जाते हैं।

कसम से! अब तो ऐसा मन कर रहा है कि कोई ऐसी फ़िल्म आये, जिसमें ये लल्लू बना दिया गया साइड हीरो इन साले ‘कन्फ्यूज्ड’ हीरो-हीरोइनों को जमकर धोये कि सालों तब से नहीं दिख रहा था तुम्हें! फेरों के टाइम पे ही पता चलता है तुमको! हैं? शादी की तैय्यारी में जो इतना खर्चा हो गया, उसे तुम्हारा बाप देगा पैं@#!

आप कहोगे कि फिलिम में सबकुछ बुरा ही बुरा है क्या? नहीं, ऐसा नहीं है। म्यूज़िक अच्छा है। इस थकेली फिलिम में थोड़ी-बहुत राहत इसका म्यूजिक ही देता है। और रणवीर ने भी दिल्ली वाले लौंडे का ‘लिंगो’ और ‘स्टाइल’ सही पकड़ा है। और वाणी कपूर? सॉरी वाणी! हमारे पास ऑलरेडी नेहा धूपिया है…जिसका मुँह भी ठीक तुम्हारे बराबर लंबा है और एक्टिंग(?) भी बिल्कुल तुम्हारे जैसी है। तो प्लीज़…दर्शकों पे रहम करो और अपनी मॉडलिंग में वापस लौट जाओ (फिलिम में भी तुमने कैट-वॉक ही की है)!

फिलिम देखने के बाद आप सोचोगे कि रणवीर ने ये फिलिम क्यों की? शायद आदित्य चोपड़ा ने उससे कहा होगा कि भाई फिलिम में दबा के ‘किस’ करना है। इतना सुनते ही भाई ने ‘हां’ बोल दिया होगा।

और अंत में- इन पेरिस और लंदन वालों को अब हमारे लोगों पे बैन लगा देना चाहिये कि “भैय्या अगर ऐसी ही गंद बनानी है तो अपने इंडिया में ही बना लो, इसके लिये इतना खर्चा करके इतनी दूर आने की ज़रूरत नहीं है!” तो पेरिस वालों की स्पेशल डिमांड पर हम ‘बेफ़िक्रे’ को बेफिकर होकर देते हैं चार बैंगनःBefikre Baingan



ऐसी अन्य ख़बरें