Tuesday, 27th June, 2017
चलते चलते

मुलायम से मार्गदर्शन लेने पहुंचीं एकता कपूर, पूछा- "ड्रामे को अंतहीन समय तक कैसे खींचें गुरुजी"

11, Jan 2017 By बगुला भगत

लखनऊ. सपा के मुखिया मुलायम सिंह यादव के ‘फ़ैमिली ड्रामे’ से टीवी की ड्रामा क्वीन एकता कपूर भी प्रभावित हो गयी हैं। पिछले एक महीने से समाजवादी परिवार में चल रहे ड्रामे से इंप्रैस होकर एकता ने मुलायम को अपना गुरु और मार्गदर्शक मान लिया है और उनसे सलाह लेने के लिये लखनऊ पहुंच चुकी हैं। फिलहाल वो मुलायम से मुलाक़ात का इंतज़ार कर रही है, जो अलग-अलग शिफ़्ट में अखिलेश और शिवपाल से मिलने में बिजी हैं।

Mulayam7
एकता को आशीर्वाद देते मुलायम

मुलायम के विक्रमादित्य मार्ग स्थित आवास के बाहर खड़ी एकता ने फ़ेकिंग न्यूज़ से बातचीत में कहा कि “देखिये! मुलायम अंकल के ड्रामे में वो सारे मसाले हैं, जो एक अच्छे सीरियल के लिय चाहिये- सस्पेंस, थ्रिलर, साज़िश, बग़ावत, धोख़ा!”

“कौन इनकी पार्टी में है, कौन पार्टी से बाहर है, रामगोपाल कितनी बार निकला है और शिवपाल कितनी बार, कौन राष्ट्रीय अध्यक्ष है, कौन प्रदेश अध्यक्ष है, कौन चुनाव लड़ेगा, कौन नहीं, किसको साइकिल मिलेगी, किसको घंटी…” कहते-कहते एकता की सांस फूल गयी।

वो बैठ गयीं और एक गहरी सांस लेकर बोली- “इतने सारे सस्पेंस तो हमारे सीरियल में भी नहीं होते भैय्या! और एक टाइम के बाद हमें भी सीरियल को खींचना मुश्किल हो जाता है, करोड़ों फूंकने के बाद भी हमारे सीरियल को टीआरपी नहीं मिल पाती और नेताजी गुरुजी फ्री में इतनी पब्लिसिटी ले रहे हैं…कमाल है जी कमाल!” कहते हुए उन्होंने हाथ जोड़ लिये।

“आप सुबह से उनसे मिलने के लिये खड़ी हैं, अगर वो बिजी हैं तो किसी और नेता से क्यों नहीं मिल लेतीं?”, यह सुनकर एकता अपने हाथ की पांचों अंगूठियों को बारी-बारी से घुमाते हुए बोलीं- “इस ड्रामे के राइटर-डायरेक्टर तो मुलायम अंकल ही हैं, बाक़ी सब तो बस अपना-अपना रोल निभा रहे हैं। तो फ़ायदा तो उन्हीं से मिलने में है।”

उधर, जब मुलायम को बताया गया कि “नेताजी, कोई सीरियल वाली आपसे ड्रामे को लंबा खींचने के टिप्स पूछने आयी है”, तो वो भड़क गये। बोले- “हंवायी तो हियां गांय फयी पयी है…ना हंवायी सायकय मिल रयी औय ना सायकय का सिंबय! और उसै डियामा लग रा यै! सिप्पाल जाओ, भगाओ उसै! बोय दो कै सैफई फैस्टीवय इस साय नयी है, अगये साय है। बोय दो!”



ऐसी अन्य ख़बरें