Wednesday, 18th October, 2017

चलते चलते

बिपाशा के साथ करण की शादी से डरे हुए हैं उनके घरवाले, उन्हें लगता है कि किसी भूत से शादी कर रहे हैं करण

29, Apr 2016 By बगुला भगत

मुंबई. हॉरर फ़िल्मों की जानी-मानी अभिनेत्री बिपाशा बसु और ज़रूरत से ज़्यादा लंबे मुंह वाले करण सिंह ग्रोवर 30 अप्रैल को शादी के बंधन में बंधने जा रहे हैं।अपनी ज़िंदगी का नया चैप्टर शुरु करने पर करण तो बेहद ख़ुश हैं लेकिन उनके घरवालों के मन में डर समाया हुआ है। उनके डर की वजह बिपाशा की फ़िल्मों वाली भूतिया इमेज है।

Bipasha
“बिपाशा सिर्फ़ फ़िल्मों में ही ऐसा करती है ममा!”

करण की मम्मी के मन में ये डर उस दिन और ज़्यादा गहरा बैठ गया, जब करण ने उन्हें बिपाशा से इंट्रोड्यूस कराया था। तब बिपाशा ने उनके पैर छूते हुए कहा था- “मम्मी जी, मैं तो आपसे काफ़ी समय से मिलना चाहती थी।” लेकिन डर की वजह से उन्हें सुनायी दिया- “मम्मी जी, मैं तो आपसे कई जन्मों से मिलना चाहती थी।”

इस डर के बारे में विस्तार से बताते हुए करण ने कहा कि “शुरु में मुझे लगा कि शायद उन्होंने बिप्स को बिना मेकअप के देख लिया है। लेकिन बाद में पता चला कि वे उसकी फ़िल्मों से डरी हुई हैं।”

“उन्होंने तो डीजे वाले को भी बोल दिया है कि संगीत सेरेमनी में ‘कहीं दीप जले कहीं दिल’ या ‘आयेगा…आना वाला’ जैसा कोई गाना नहीं बजेगा, चाहे बिपाशा कितना भी कहे।”

“उन्होंने यह शर्त भी रखी है कि बिपाशा शादी पर सफ़ेद जोड़ा नहीं पहनेगी। उन्हें लगता है कि भूत हमेशा सफ़ेद कपड़े पहनते हैं। शादी के बाद हम जिस नये घर में शिफ़्ट होंगे, उसमें उन्होंने ऐसी लाइटें लगवायी हैं जो कभी बंद ही नहीं होंगी, यानि हम सुहागरात भी उजाले में ही मनायेंगे।” -करण ने मुंह बिचकाते हुए कहा।

“ममा ने उस घर में कोई तहखाना या बेसमेंट भी नहीं बनने दिया है और जगह-जगह सीसीटीवी कैमरे लगवा दिये हैं, ताकि रात में बिप्स की हर मूवमेंट पता चलती रहे। घर में चारों तरफ़ आईने लगवा दिये हैं क्योंकि भूत आईनों से डरते हैं।”

“और तो और, उन्होंने साफ़ बोल दिया है कि मैं हनीमून मनाने बिप्स के साथ किसी सुनसान बंगले में नहीं जाऊंगा।”

इसके बाद वो ज़ोर से हंसते हुए बोले- “मैंने कहा ममा, मैं बिप्स के साथ कई बार अंधेरे में रहकर देख चुका हूं, वो आधी रात के बाद भी पहले जैसी ही रहती है।”

“लेकिन वो फिर भी नहीं मानीं। बोलीं कि 15 मई को अमावस है, अगर उस रात सबकुछ ठीक-ठाक रहा तो फिर मैं इसे बिपाशा मान लूंगी।” -यह कहकर वो हाथों पर मेंहदी लगवाने चले गये।



ऐसी अन्य ख़बरें