Wednesday, 20th September, 2017

चलते चलते

'उड़ता पंजाब' पर बैन से केजरीवाल नाराज़, कहा- "अब मैं रिव्यू कैसे लिखूँगा?"

08, Jun 2016 By banneditqueen

दिल्ली.  फ़िल्म ‘उड़ता पंजाब’ पर सेंसर की कैंची चलने से उठा बवाल थमने का नाम ही नहीं ले रहा। फ़िल्म के निर्माता अनुराग कश्यप से लेकर करन जौहर तक तमाम फ़िल्मी हस्तियां ट्विटर पर अपनी नाराज़गी व्यक्त कर रही हैं। अब दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी सेंसर बोर्ड और अनुराग कश्यप की इस लड़ाई में कूद पड़े हैं।

केजरीवाल ने कश्यप के समर्थन में ट्वीट करके कहा है कि “हम सेंसर बोर्ड की तानाशाही नहीं चलने देंगे। आई फुल्ली सपोर्ट अनुराग कश्यप!” हालाँकि कश्यप उनके समर्थन से नाखुश नज़र आए और उन्होंने ‘आप’ को इस लड़ाई से दूर रहने के लिये कहा दिया। मामला तूल पकड़ता देख केजरीवाल के बचाव में आशुतोष और आप के कई नेता सामने आ गये।

arvind-kejriwal
‘उडता पंजाब’ पर बैन की ख़बर से दुःखी होते केजरीवाल

शाम होते होते टाइम्स नाऊ के अर्नब गोस्वामी ने #OpportunisticKejriwal हैशटैग ट्रेंड कराकर उस पर न्यूज़आवर की डिबेट भी करा दी। आखिरकार केजरीवाल जी ने मीडिया से प्रेस वार्ता कर के बताया कि “यूँ भी बीजेपी और मोदी को मेरे मूवी देखने से दिक्कत है। ये सब बीजेपी और सेंसर की मिलीभगत है। अब आप ही बताइए, अगर इस मूवी पर बैन लग गया तो मैं इसकी समीक्षा कैसे करूँगा?”

वार्ता के बाद आप प्रवक्ता संजय सिंह ने बताया कि “अरविंद जी ऑल इन वन सीएम हैं। दिल्ली की देखरेख के अलावा वो मनोरंजन का भी पूरा ख्याल रखते हैं। ऐसे में अगर मूवी पर बैन लग गया तो दिल्ली की जनता उनके रिव्यू से वंचित रह जाएगी।”

इस पर बीजेपी के संबित पात्रा ने चुटकी लेते हुए कहा कि “देखिए अरविंद जी का एक ही काम है या तो मोदी जी पर हमला करना या तो हर सप्ताह के अंत में मूवी देखकर उसका “मस्ट वॉच” का रिव्यू देना।”

सूत्रों सेे जानकारी मिली है कि पीवीआर सिनेमास में केजरीवाल जी के लिये पहले से ही सीट्स आरक्षित रहती हैं। बहरहाल ‘उड़ता पंजाब’, जो कि 17 जून को रिलीज़ होने वाली थी, पर बैन की वजह से अब केजरीवाल जी ने यह शुक्रवार मोदी जी के विदेश दौरों की समीक्षा करने के लिये रखा है।



ऐसी अन्य ख़बरें