Monday, 24th July, 2017
चलते चलते

अनु मलिक ने अपनी आवाज़ में गाया "देखो बारिश हो रही है", स्वयं निकाले गए इंडियन आइडल से

28, Dec 2016 By Pagla Ghoda

मुम्बई. मशहूर ‘inspired’ म्यूजिक डायरेक्टर-प्रोड्यूसर एवं जज अनु मलिक के साथ तब काण्ड हो गया जब कुछ बेसुरे कंटेस्टेंट्स के साथ साथ उन्हें भी इंडियन आइडल से निकाल दिया गया। अनु मलिक जो कि खुद इस शो के एक जज हैं और कंटेस्टेंट्स को “अबे क्या बेसुरा गा रहा है” कहकर बाहर निकालते रहते हैं, इस निकाले जाने की घटना को पचा नहीं सके और उन्होंने घोषणा की कि आगे से वो कभी भी कोई नयी धुन नहीं बनाएंगे। हालाँकि बतौर म्यूजिक डायरेक्टर वो पहले जैसे ही काम करते रहेंगे।

Anu Malik and Farah Khan
बेसुरा गाने पर अनु मलिक का गला दबातीं फ़राह ख़ान

इस म्यूजिक शो की दूसरी जज और शाहरुख़ की फेवरेट डांस डायरेक्टर फराह खान ने बताया, “यार ये म्यूजिक एंड आल है न, वो तो सोनू निगम का ही डिपार्टमेंट है। मैं तो उसमे पड़ती ही नहीं! मैं तो कैंडिडेट्स की प्रेजेंटेशन पे ध्यान देती हूँ, उनके कपडे, सजने संवरने के तरीके, खड़े होने का स्टाइल, बालों में जुएं हैं कि नहीं, उसी पे टिप्पणियां करती हूँ, that’s my forte! पर अनु जी हैं न, वो खुद को थोड़ा ज़्यादा ही म्यूजिक एक्सपर्ट टाइप का आदमी समझते हैं, और इसी वजह से आज उन्हें लतिया दिया गया।

थिक ओरियो एंड चोको शेक सिप करते हुए फराह ने आगे बताया, “हुआ ये कि उस टाइम पे एक कैंडिडेट ने उनका सांग “देखो बारिश हो रही है” काफी दिल से गाया, तो वो गुस्से में आ गए, बोले “अबे क्या गा रहा है तू, क्या बेसुरा है भाई ये?” सोनू ने कहा भी कि भाई जाने दो, बन्दे ने सुर ठीक पकड़ा है, थोड़ा ताल की गड़बड़ है। पर अनु जी नहीं माने, वो बोले मैं गाके बताता हूँ और अपनी ही पतली सी फटी हुई आवाज़ में “देखो बारिश हो रही है” गाने लगे। उनकी आवाज़ सुनते ही शो के प्रोड्यूसर साहब जो कि अंदर कमरे में बैठे थे, वो गुस्से में भडकते हुए बाहर आये और बोले, “यार ये जिस भी इंसान ने अभी-अभी गाना गाया है, उसको फ़ौरन शो से बाहर करो, मुझे नहीं चाहिए ऐसे फ़टे हुए ढोल इंडियन आइडल में!” हम लोग बोलते रह गए कि ये खुद अनु मलिक जी ही गा रहे थे। पर प्रोड्यूसर साहब ने कुछ सुना ही नहीं, बोले जिसने गाया उसको अभी बाहर करो, नहीं तो शो की फंडिंग वापिस करवा दूंगा। मैंने और सोनू जी ने सवालिया निगाहों से अनु जी की तरफ देखा, और वो चुपचाप खुद ही उठकर बाहर चले गए। अब उनकी जगह सोनाली बेंद्रे या मिथुन दा में से ही कोई आएगा, इंडियन आइडल म्यूजिक शो को जज करने।”

स्वयं अनु मलिक ने पहले पहल तो इस वाकये पर कुछ नहीं कहा, परंतु बाद में दबे शब्दों में स्वीकार किया कि उन्हें अपनी आवाज़ में गाने का रिस्क लेना ही नहीं चाहिए था। दुखी स्वर में अनु बोले, “सब लोग अपनी फील्ड से हट के चीज़ें करना चाहते हैं। फराह डांस कराती थी नचनियों को, अब फिल्में भी डायरेक्ट कर चुकी है। सोनू गवैया है पर ‘जानी दुश्मन – एक अनोखी कहानी’ में अपनी दर्दनाक एक्टिंग से लोगों को रुला भी चुका है। इन्हें पेंचो कोई कुछ नहीं कहता। मैंने एक दो लाइनें गा दीं अपने फेवरेट गाने की तो क्या आसमान टूट पड़ा!”

“खैर मैं जूनियर इंडियन आइडल नाम का शो शुरू करवा दूंगा, उसमें जज बनके आ जाऊंगा। हम जैसे टैलेंटेड लोगों के लिए शोज जज करवाने वालों की लाइन लगी रहती है यार! अपने मोहल्ले के सारे म्यूजिक, डांस और करतबबाजी और मुहं में तलवार घुसेड़ने वाले टैलेंट शोज मैं ही जज करता हूँ। टैलेंट होना चाहिए यार, काम की कमी नहीं है इंडस्ट्री में।” चुटकी बजाते हुए अनु ने अपनी बात ख़त्म की और अपनी सुरीली ध्वनि में “ईस्ट ओ वेस्ट यू इंडिया इज दी बेस्ट” गाते हुए अपनी कार की और बढ़ चले। पास ही खड़ी एक महिला की गोद में जो नवजात शिशु अभी तक मंद मंद मुसकुरा रहा था, वो अनु जी का गीत सुनते ही ज़ोर-ज़ोर से दहाड़े मार के रोने लगा।



ऐसी अन्य ख़बरें