Wednesday, 23rd August, 2017

चलते चलते

खुलासाः 'रुस्तम' नहीं 'कजारिया टाइल्स' के लिये मिला अक्षय को बेस्ट एक्टर का नेशनल अवॉर्ड

07, Apr 2017 By बगुला भगत

मुंबई. बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार ने बेस्ट एक्टर का नेशनल अवॉर्ड जीत लिया है। शुरु में ख़बर आयी थी कि यह अवॉर्ड उन्हें ‘रुस्तम’ फ़िल्म के लिये मिला है। अक्षय ख़ुद इस ख़बर से भौचक्के रह गये कि रुस्तम के लिये मुझे यह अवॉर्ड कैसे मिल गया! लेकिन जब बाद में पता चला कि यह अवॉर्ड उन्हें कजारिया टाइल्स के विज्ञापन में उनके शानदार अभिनय के लिये मिला है, तो उनकी ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहा।

Akshay Award
अवॉर्ड की ख़बर सुनकर अक्षय की आँखें फटी रह गयीं

नेशनल अवॉर्ड की जूरी के एक मेंबर का एक वीडियो लीक हुआ है, जिसमें वो कहते हुए दिख रहे हैं कि “असल में अक्षय को यह अवॉर्ड कजारिया टाइल्स की एड में शानदार एक्टिंग के लिये दिया है। लेकिन चूंकि अभी विज्ञापन के लिये बेस्ट एक्टर के अवॉर्ड का प्रावधान नहीं है, इसलिये मजबूरी में हमें ‘रुस्तम’ का नाम लेना पड़ा!”

‘कजारिया टाइल्स’ में अक्षय ने सेना के कर्नल राठौड़ का रोल किया है। इस फ़िल्म में अक्षय उस इलाक़े की रक्षा करते हैं, जहां से कजारिया टाइल्स बनाने के लिये मिट्टी आती है। इस मिट्टी में देशभक्ति कूट-कूटकर भरी हुई है, इसलिये इस मिट्टी पर विरोधी टाइल कंपनियों की भी नज़र है। वे कंपनियाँ रात के अंधेरे में इस मिट्टी को चुराने के लिये अपने गुंडे भेजती हैं। लेकिन अक्षय उनके नापाक इरादों को नाकाम कर देते हैं और अपनी जान पर खेलकर कजारिया की मिट्टी की सुरक्षा करते हैं।

जूरी के मेंबर सबसे ज़्यादा उस सीन से इंप्रैस हुए, जिसमें अक्षय दुर्गम पहाड़ी रास्ते पर एक ऐसी जीप में बैठकर जा रहे हैं, जिसकी हेडलाइट्स शाम के पांच बजे भी जली हुई हैं। अचानक अक्षय उस चलती हुई जीप में से कूद जाते हैं। चार-पांच कलाबाज़ियाँ खाते हैं और गुंडों को डराने के लिये कहते हैं- “जी-जान लगा देते हैं कुछ लोग अपनी मिट्टी की हिफ़ाज़त के लिये!”

उधर, इस अवॉर्ड के बाद बॉलीवुड के अभिनेताओं में कजारिया टाइल्स की एड करने की होड़ मच गयी है। कई अभिनेता तो अपनी फ़ीस लेने के बजाय अपने पल्ले से पैसा देने को भी तैयार हैं। उन्हें लग रहा है कि बस, किसी तरह एक बार ये एड मिल जाये, फिर अपना नेशनल अवॉर्ड पक्का!



ऐसी अन्य ख़बरें