Friday, 28th July, 2017
चलते चलते

विजय सलगांवकर (अजय देवगन) ने 2 अक्टूबर से पहले नोटबंदी ना करने पर मोदी जी को दिया धन्यवाद

19, Nov 2016 By Rajeev Singh Chauhan

कदम्बा.  केबल टीवी कनेक्शन का व्यवसाय करने वाले विजय सलगांवकर (अजय देवगन) और उनके परिवार ने नोटबंदी की घोषणा 2 अक्टूबर से पहले नहीं करने पर प्रधानमंत्री मोदी को धन्यवाद दिया है। विजय का कहना है कि “अगर मोदी जी ये काम अक्टूबर से पहले कर देते तो आज मेरा पूरा परिवार जेल में होता।” ज्ञात हो कि विजय ने आईजी मीरा के बेटे के क़त्ल की कहानी को छुपाने के लिए एक दूसरी कहानी बनाई थी। इस कहानी के अनुसार वो अपने परिवार के साथ स्वामी चिन्मयानंद जी के सत्संग में 2 अक्टूबर को पणजी गये थे और 3 अक्टूबर को वापस कदम्बा लौट आये थे।

झूठ बोलने के बाद मार खाते अजय
झूठ बोलने के बाद मार खाते अजय

इस दौरान विजय और उसका परिवार एक पाव भाजी की दुकान पर इतनी पाव भाजी खाते हैं कि उनकी जेब खाली हो जाती है और बस की टिकट के पैसे भी नहीं बच पाते हैं। प्लान के अनुसार विजय को पणजी के बस स्टॉप पर एक ATM में अपनी CCTV फुटेज में अपने आप को रिकॉर्ड कराना था ताकि वो पुलिस को चकमा दे सके। विजय का कहना है कि “अगर ये नोटबंदी 2 अक्टूबर से पहले हो जाती तो मैं एटीएम में घुस ही नहीं पाता, पूरे दिन लाइन में ही खड़ा रहता और मेरा पूरा प्लान चौपट हो जाता।” विजय ने अपने ‘बाल-बाल बचने’ पर भगवान और मोदी जी को शुक्रिया कहा है।

विजय इस बात से इसलिये डरा हुआ था क्योंकि नए नोटों के बहाने गाँधी जी की प्रोफाइल पिक्चर को बदला जाना था, जिसे बदलने का सबसे अच्छा दिन गाँधी जी की जयन्ती यानी 2 अक्टूबर ही होता। लेकिन स्वामी चिन्मयानंद जी के आशीर्वाद से सब सही हो गया। विजय ने अपने धन्यवाद वक्तव्य में काले धन वालों को सलाह दी है कि आप हर 2 अक्टूबर को अपनी फ़ैमिली के साथ पणजी जायें और 3 अक्टूबर को वापस लौट आयें और हां, पाव-भाजी ज़रूर खायें, तो आपका निश्चित ही भला होगा।



ऐसी अन्य ख़बरें