Friday, 24th November, 2017

चलते चलते

न्यूनतम 'पर-डियम' और लम्बा 'ऑन-साइट' न मिलने से नाराज़ होकर ही दिया सिक्का ने इस्तीफ़ा: सूत्र

23, Aug 2017 By Pagla Ghoda

बैंगलोर: इनफ़ोसिस के भूतपूर्व सीईओ श्री विशाल सिक्का के इस्तीफे पर कई कयास लगाए जा रहे थे, पर अब उनके इस्तीफे के पीछे के राज़ प्याज के छिलकों की तरह खुलते जा रहे हैं। सूत्रों की मानें तो न्यूनतम पर-डियम और लम्बा ऑन-साइट न मिलने से सिक्का काफी समय से कंपनी बोर्ड से नाराज़ चल रहे थे, और इसी कारण उन्हें हारकर अपने पद का त्याग करना पड़ा।

vishal-sikka
बोर्ड मीटिंग में लंबे ऑन-साइट की मांग करते विशाल सिक्का

ख़ुफ़िया सूत्र गंगेश गंगवानी (नाम बदला गया) ने लगभग फुसफुसाते हुए बताया, “पहली बात तो सिक्का साहब को कोई भी लम्बा ऑन-साइट नहीं दिया जा रहा था। कभी दो दिन के लिए पैरिस जा रहे हैं, तो कभी तीन दिन के लिए अमेरिका! बीच में तो रवांडा, युगांडा जैसे अफ़्रीकी मुल्कों के भी चक्कर लगवा दिए जाते थे। अब यार एक आदमी को कम से कम दो तीन महीने ऑन-साइट टिकने तो दो! लेकिन नहीं साहब, परेड लगाए रखते थे। ऊपर से पैंतालीस डॉलर काफी कम पर-डियम है। कम से कम साठ डॉलर तो होना ही चाहिए न! अब एक मुलाज़िम आखिर कब तक सहेगा ये सब ज़्यादतियाँ? टूट गया बंदे के सब्र का बाँध!”

हालाँकि इन्फ़ी आफिस से इस मामले में कोई आधिकारिक टिपण्णी नहीं आयी है, पर सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग विशेषज्ञों के अनुसार, लम्बा ऑन-साइट एक बड़ा कारण है कि कई टैकी-लोग इन्फ़ी, टीसीएस और विप्रो जैसी सर्विसेज कंपनियों में बिना बात टिके रहते हैं, और कॉफ़ी मशीन से रोज़ाना कई कप चाय-कॉफ़ी डकारते रहते हैं। कुछ वर्ष बाद स्वयं ही झक मारकर रिज़ाइन कर देते हैं, और कोई बड़ी प्रोडक्ट कंपनी ज्वाइन कर लेते हैं, या फिर अपना स्टार्टअप वेबसाइट खोल के कुछ मिलियन डॉलर की फंडिंग ढूंढने लगते हैं। इस मामले में भी ऐसा ही कुछ होने के कयास लगाए जा रहे हैं।



ऐसी अन्य ख़बरें