Sunday, 30th April, 2017
चलते चलते

चार बार कॉलेज में दाखिला लेकर ड्रॉप-आउट करने के बाद भी entrepreneur को नहीं मिली फंडिंग

17, Feb 2017 By Pagla Ghoda

मुम्बई. जाने माने सीरियल entrepreneur और स्टीव जॉब्स के सबसे बड़े फैन 19 वर्षीय सुमित कोशी आजकल गहरे सदमे में हैं। कारण यह कि सात स्टार्ट-अप कम्पटीशन जीतने के बाद, तीन Tedx टॉक्स देने के बाद और चार बार कॉलेज में दाखिला ले के ड्रॉप आउट करने के बाद भी उनके द्वारा स्टार्ट की गयी पांच कंपनियों में से किसी को फंडिंग नहीं मिल रही। लिंक्ड-इन जैसी वेबसाइट पर फॉलोअर्स की लंबी लिस्ट रखने वाले कोशी कई बड़े बड़े young entrepreneurship वाले जलसों और टॉक्स में बतौर चीफ गेस्ट बुलाये जाते हैं, जहाँ वो अपने से बड़ी उम्र के युवाओं को भी सलाह और प्रोत्साहन देते रहते हैं। पर वो सब सलाहें उनके खुद के ज़्यादा काम नहीं आ रहीं।

Entrepreneur
सही चाबी की तलाश में सुमित कोशी

“देखिये मैं तो पिवोट करता रहते हूँ अपने बिज़नेस को।” कोशी ने अपने हाथ और बाज़ू हवा में हिलाकर काफी समझाने वाले ढंग से कहा। “सबसे पहले बिज़नेस जो मैंने शुरू किया था, वो था ऑनलाइन होमवर्क सोलूशन्स का। उनमें जो स्कूली बच्चे एक्स्ट्रा करीकुलर की वजह से अपना होमवर्क नहीं कर पाते, उनके होमवर्क दूसरे बच्चे ऑनलाइन कर दिया करेंगे फॉर आ स्मॉल फीस। उसके बाद में उसी वेबसाइट पे ऑफिस का भी काम करवाना शुरू कर दिया।”

“बिज़नेस ठीक-ठाक था पर फिर किसी ने पुलिस में शिकायत कर दी कि ये तो इल्लीगल है, तो मैंने उसी वेबसाइट को अब पूरी तरह एक ई-कॉमर्स वेबसाइट में तब्दील कर दिया है। लेकिन अब मुझे मार्केटिंग के लिए कुछ मिलियंस ऑफ़ डॉलर्स चाहिए, लेकिन रिस्क तो साहब कोई लेना ही नहीं चाहता। सबको गारंटी चाहिए। अजी मैं entrepreneur हूँ, कोई पंखा-कूलर नहीं बेच रहा यार, जो गारंटी देता फिरूँ!”

“चार बार अमेरिका के बड़े-बड़े कॉल्लेजेज में एडमिशन ले के ड्राप आउट कर चुका हूँ, एक सन्देश भेज रहा हूँ इंवेस्टर कम्युनिटी को, लेकिन मेरा सिग्नल कोई पकड़ता ही नहीं। इतने में तो स्टीव जॉब्स चार बार एप्पल कंपनी खड़ी कर देता। लेकिन यहाँ के इन्वेस्टर ये सब नहीं समझते। वे ये नहीं समझते कि हम entrepreneur मार्केटिंग करेंगे अच्छे से, तो ग्राहक भी आएगा। इसी मार्केटिंग के लिए बस पांच-छह सौ करोड़ मिल जाए मुझें तो इस देश को अगला स्टीव जॉब्स मैं ही दूंगा।” कहते-कहते सुमित गुस्से में इतने इमोशनल हो गए कि उनकी आँखें लाल हो गयीं, नथुने फड़फड़ाने लगे और मूंह से थूक तक निकल आया। इसके तुरंत बाद सुमित स्टीव जॉब्स की स्टैंडफोर्ड वाली स्पीच को लूप पर लगाकर सुनने लगे और हमने उनसे विदा ली।

सुमित को फंडिंग मिलेगी या नहीं, ये तो आने वाला वक़्त ही बताएगा परंतु सूत्रों के अनुसार उन्होंने अगले एडमिशन साइकिल के लिए अमेरिका के कई बड़े बी-स्कूल्स के एप्लीकेशन फॉर्म भर दिए हैं।



ऐसी अन्य ख़बरें