Friday, 24th November, 2017

चलते चलते

राफेल जेट खरीदने के बाद मनोहर पर्रीकर की नज़र अब ट्विटर पर, आधे रेट में सौदा पटने की उम्मीद

27, Sep 2016 By Ritesh Sinha

नयी दिल्ली. राफेल जेट खरीदने के बाद रक्षा मंत्री मनोहर पर्रीकर की नज़रें अब ट्विटर को खरीदने पर लग गई हैं। जब से उन्हें पता चला है कि ट्विटर बिकने वाला है, तभी से वो उसे खरीदने की जुगत में लग गए हैं क्योंकि एक ओर जहाँ राफेल जेट लड़ाई के मैदान में काम आता है, तो वहीँ ट्विटर लड़ाई का सबसे बड़ा मैदान है। जहाँ दिन भर युद्ध चलता रहता है, इसीलिए पर्रीकर को लगता है कि अगर ट्विटर को खरीद लिया जाए तो जवानों को युद्ध अभ्यास करने में काफ़ी सहूलियत रहेगी।

Parrikar3
ट्विटर की डील का हिसाब-किताब समझाते पर्रिकर

रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने डील के बारे में ट्वीट करके बताया कि “हां, हमारी बात ट्विटर से चल रही है, अभी वो अपना रेट 1067 अरब रुपये बता रहे हैं, जबकि हमने उन्हें बताया है कि हम सिर्फ 55 अरब रुपये दे सकते हैं। हमारे इस प्रस्ताव पर ट्विटर की ओर से सूचना आई है कि इतनी कम कीमत देखकर उनके कई अधिकारी बेहोश हो गए हैं। लेकिन चिंता की कोई बात नहीं है, हम अपनी कोशिश जारी रखेंगे।”

कुछ रक्षा विशेषज्ञ इतनी कम बोली लगाने के लिये पर्रीकर की आलोचना कर रहे हैं। ऐसे ही एक डिफेंस एक्सपर्ट युद्धवीर तलवार जी ने तो पूरी डील को ही बेकार बता दिया। उनका कहना है कि “ट्विटर का हम करेंगे क्या? इससे तो अच्छा है कि जो सुझाव मैंने कल टीवी चैनल पर बहस के दौरान दिए थे, उन्हें मान लिया जाए।” कहते हुए तलवार जी फिर से एक टीवी डिबेट के लिए तैयार होने लगे।

उधर, कुछ विशषज्ञों का मानना है कि अगर ट्विटर को भारतीय सेना खरीद लेती है तो सेना की ताकत दोगुनी हो जाएगी। ट्विटर को खरीद लेने के बाद दूसरे देशों के सैनिकों को युद्ध अभ्यास के लिए भारत नहीं आना पड़ेगा, जिससे दोनों देशों के पैसे और समय दोनों की बचत होगी। और सबसे बड़ी बात, भारतीय जवानों को ‘होम पिच’ पर लड़ने का एडवांटेज भी मिलेगा।



ऐसी अन्य ख़बरें