Monday, 26th June, 2017
चलते चलते

कॉलेज छात्र ने दो पनवाड़ियों को दिए 500 रु. उधार, लिंक्ड-इन पर खुद को सीरियल इन्वेस्टर घोषित किया

18, Jun 2017 By Pagla Ghoda

मुंबई. ‘ब्लू ओरेंजेस कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड मैनेजमेंट’ के BBA के छात्र मोहेश मॉगालरिया ने कॉलेज के इनक्यूबेटर में ‘गोल्डन वेंचर कैपिटलिस्ट’ नामक एक कंपनी की स्थापना की है, जिसके के वो सीईओ, सीएफओ और सीओओ स्वयं खुद हैं। लिंक्ड-इन पर मोहेश ने खुद को एक ‘बडिंग इन्वेस्टर एंड VC’ भी घोषित कर दिया है और अपनी कंपनी का धुआंधार प्रचार सभी एंट्रेप्रेनरियल सेमिनार्स में भी कर रहे हैं। इसी विषय पर फ़ेकिंग न्यूज़ ने मोहेश से बातचीत की। हमने मोहेश से कुछ तीखे सवाल किये, जिनके जवाब मोहेश ने बेबाकी से दिए। मोहेश वैसे तो केवल बाईस साल के हैं, पर उनके चेहरे पर एक तीव्र तेज़ दिखाई पड़ता है। केसरिया रंग की ॐ वाली हल्की खादी की टी-शर्ट और ब्लू डेनिम पहने मोहेश काफी ट्रेंडी लुक स्पोर्ट करते हैं। हाथ में रुद्राक्ष स्टाइल का ब्रेसलेट पहने हुए हैं और लम्बे बालों का फिल्म डायरेक्टर स्टाइल में पीछे की और जूड़ा बांधे हुए हैं। हमसे एक बड़ी मुस्कान के साथ गले मिलते हैं।

pan
मोहेश का मुँह मीठा कराते पानवाले भैय्या

रिपोर्टर: गुड मॉर्निंग मिस्टर मोहेश!

मोहेश: तासवदानिया!

रिपोर्टर: इसका मतलब तो गुड बाई होता है।

मोहेश: अ .. वो क्या है के मेरा तो देखिये स्टाइल ही डिफरेंट है। आपने अंग्रेजी में कहा गुड मॉर्निंग मैंने स्पेनिश में कहा गुड बाई!

रिपोर्टर: ‘तासवदानिया’ स्पेनिश का नहीं रुसी भाषा का शब्द है।

मोहेश: अ … वो क्या है के मैं तो सात आठ भाषाओँ में पारंगत हूँ, तो कभी कभार मिक्स हो जाता है|

रिपोर्टर: मुद्दे पे आते हैं, आपने खुद को लिंक्ड इन पर एक प्रीमियम इन्वेस्टर घोषित किया हुआ है, खुद को एक VC कहने लगे हैं। आपने कहाँ कहाँ इन्वेस्ट किया है अब तक?

मोहेश: अ .. वो क्या है के I have made a couple of critical investments which I cannot disclose at this stage, थोड़ा कॉन्फिडेंशियल मामला है, समझा कीजिये।

रिपोर्टर: हमने सुना है कि आपने नथ्थू नागरसिया और पप्पू परवलवाला नामक दो पनवाड़ियों को पांच-पांच सौ रूपये उधार दिए हैं और इसी बलबूते पर खुद को एक “प्रीमियम” इन्वेस्टर बता रहे हैं।

मोहेश: Oh my God, news travels fast in this industry! देखिये हर कोई एक छोटी शुरुआत ही करता है, अगर मैंने पनवाड़ियों में इन्वेस्ट किया है तो …

रिपोर्टर: इन्वेस्ट?

मोहेश: जी हाँ मैं इसे इन्वेस्टमेंट ही मानता हूँ। पांच सौ रूपये तो केवल एक सीड फंडिंग है, उसके साथ साथ मैं पूरी कोशिश कर रहा हूँ के उनका धंधा चले, वो अपने पान प्रोडक्ट्स में बढ़िया क्वालिटी का चूना, कत्था और सुपारी इत्यादि का इस्तेमाल करें, अपने प्रोडक्ट्स को अच्छे दाम पे बेचें।

रिपोर्टर: अच्छा!

मोहेश: जी हाँ! मैं उन्हें फाइनेंशियल मामलों में भी कंसल्ट कर रहा हूँ। मेरी उन्हें यही एडवाइस है के ग्राहकों से उधारी करके अपनी बैलेंस शीट पे ज़्यादा रिसीवेबलज़ न रखें। अपना अर्निंग टू डेब्ट रेश्यो ख़राब न होने दें। अपनी वेबसाइट डेवेलप करवाएं। ऑनलाइन अपना सामान बेचें और मोटा मुनाफा कमाएं। एक VC अपने एंटरप्रेन्योर के लिए इससे ज़्यादा और क्या कर सकता है? बाकी अगर धंधा चल निकला तो मेरे पांच सौ रूपये की इक्विटी बढ़कर लाखों में जा सकती है।

रिपोर्टर: यानी कि आप उनके डे-टू-डे बिज़नेस में काफी हद्द तक इनवॉल्वड हैं।

मोहेश: जी ज़रूर, आज भले ही लोग मुझे एक छोटा सा खिलाड़ी मान मुझ पर हंस रहे हैं लेकिन कल यही दुनिया मेरे कदम चूमेगी। डंका बजेगा मेरे नाम का डंका! (बोलते बोलते मोहेश आवेश में आ गये, उनका चेहरा तमतमा गया, नथुने फूलने लगे और माथे पर एक शिकन सी आ गयी)

रिपोर्टर: मोहेश आप आवेश में ना आयें, लीजिये थोड़ा पानी पीजिये।

मोहेश: (एक ग्लास पानी पीते हैं) नहीं वो बात नहीं, एक इंसान खुद की एक छोटी से शुरुआत करना चाह रहा है, लेकिन ये ज़माना उसे नीचे झुकाने में ही लगा रहता है।

रिपोर्टर: जी!

मोहेश: क्षमा कीजिये, मेरे बॉयफ्रेंड सुमित का फोन आ रहा है, आपका कोई और सवाल?

रिपोर्टर: आगे अपनी कंपनी को स्केल अप करने के लिए आपके क्या प्लान हैं?

मोहेश: गुड क्वेश्चन! मेरे अंकल का दरअसल वेस्ट डिस्पोजल का बिज़नेस है, और वो मुझे कुछ फाइनेंसिंग देने के लिए इंटरेस्ट शो कर रहे हैं।

रिपोर्टर: वेस्ट डिस्पोजल का बिज़नेस?

मोहेश: अ … वो दरअसल कबाड़िये का बिज़नेस है, तो फ्री कैश फ्लो काफी रहता है… So he is ready to fund me in my expansion plans.

रिपोर्टर: अच्छा अच्छा! फिर आपके BBA का क्या होगा, आप तो बिज़नेस में व्यस्त रहेंगे?

मोहेश: अरे ये बिज़नेस चल गया तो मैं IIM से MBAs को हायर किया करूँगा, थिस BBA इस जस्ट फॉर टाइम पास।

रिपोर्टर: अच्छा मोगेश हम अब इजाज़त चाहेंगे, आपको आपके बिज़नस के लिए बहुत बहुत शुभकामनाएं!

मोहेश: जी ज़रूर! एक गुज़ारिश है, मैंने ऐसे छोटे छोटे बिज़नस को फाइनांस करने में स्पेशलाइज करता हूँ तो आपकी सोसाइटी में कोई भी प्रेसवाला, सब्जीवाला या कबाड़ी अगर पैसे लगाकर अपना बिज़नेस बढ़ाना चाहता है तो मुझे बताइये मैं उन्हें फंडिंग दिलवाऊंगा।

रिपोर्टर: जिस ज़रूर, नमस्कार!



ऐसी अन्य ख़बरें