Friday, 24th November, 2017

चलते चलते

तीन साल से कच्छा-बनियान नहीं पहना युवक ने, कहता है- "जब अमिताभ बोलेंगे तभी पहनूंगा"

10, Apr 2017 By बगुला भगत

पटना. बिहार का रहने वाला एक युवक पिछले तीन साल से बिना अंडरगारमेंट्स के रह रहा है। पटना से डेढ़ सौ किलोमीटर दूर गुंडिया कस्बे के राकेश रंजन का कहना है कि “मैं कच्छा-बनियान तभी पहनूंगा, जब अमिताभ बच्चन पहनने को बोलेंगे। नहीं तो सारी जिंदगी ऐसे ही रहूंगा!”

Big B Binani
सीमेंट भी बिनानी ही लगाता है सुकेश रंजन

राकेश के घरवालों का कहना है कि ये सारी वही चीज़ें यूज करता है, जिनकी एड अमिताभ करते हैं। उनके अलावा ना कुछ खाता है, ना पीता है और ना पहनता है। राकेश के पिता भगवती प्रसाद ने बताया कि “हमारा तो जीना मुहाल कर दिया है इस बुड़बक ने! अमिताभ के कहने पे नवरत्न का तेल लगाता है, एवरेस्ट का मसाला डालता है, दावत के चावल खाता है और उधार ले-लेकर रीड एंड टेलर का सूट पहनता है।”

“पिछले महीने जब हम कमरा बनाने के लिये सीमेंट लेकर आये तो उसे वापस करा दिया और फिर बिनानी का सीमेंट लेकर आया बुड़बक! हमारे कस्बे में आईसीआईसीआई बैंक का ब्रांच नहीं है तो पटना जा के उसी में अकाउंट खुलवाया इसने।” -भगवती बड़बड़ाते हुए बोले।

वहीं पास में बैठी राकेश की माताजी मिसरी देवी ने बताया कि “परसों जब बच्चों को पोलिया का दवा पिलाने वाले आये तो उसे भी जबरदस्ती पी गया। हम मना किये तो बोला कि बच्चनवा कहते हैं इसलिये पीना पड़ेगा अम्मा!”

उधर, जब अमिताभ को बताया गया कि आपका एक फ़ैन आपकी वजह से निक्कर-बनियान नहीं पहन रहा है तो उन्होंने कहा कि “हमारी उमर नहीं रही अब निक्कर-बनियान की एड करने की! नहीं तो छोड़ते उसे भी नहीं! लेकिन क्या करें! चौबीस घंटे भी कम पड़ रहे हैं एड करने के लिये! हंय…हंय!'”

आठ-दस बार ‘हंय-हंय’ करने के बाद बोले- “वो अमूल माचो वाले आये थे तो हमने उनसे बोला कि ये एड हमारे बेटे को दे दो, वो घर पे खाली बैठा है। लेकिन सालों ने मना कर दिया। कहने लगे कि अभिषेक को एड में लेंगे तो सारे बनियान हमें ख़ुद ही पहनने पड़ेंगे। ये कोई बात हुई भला, हंय…हंय!”



ऐसी अन्य ख़बरें