Saturday, 25th March, 2017
चलते चलते

"4G वाली लड़की ने विज्ञापन में झूठ बोला; मोबाइल पर 'अंदाज़ अपना अपना' नहीं, पौर्न देख रहे थे इगतपुरी के लड़के"

29, Mar 2016 By बगुला भगत

मुंबई. नदी-नालों, गुफाओं और शादी-ब्याहों में 4जी के सिग्नल ढूंढने वाली ‘मिस 4जी’ पर अपने नये विज्ञापन के वीडियो के साथ छेड़छाड़ करने का आरोप लगा है। मिड-डे अख़बार का दावा है कि “उस दिन इगतपुरी के पहाड़ों में कुछ ऐसा हुआ था, जिसे उस लड़की ने दुनिया से छुपा लिया।”

अख़बार लिखता है कि “एयरटेल 4जी के इस विज्ञापन में दिखाया गया है कि इगतपुरी के तीन लड़के पहाड़ों में छुपकर मोबाइल पर परेश रावल का डायलॉग ‘तेजा मैं हूं’ देख रहे हैं। 4जी वाली लड़की वहां पहुंचती है और यह देखकर हैरान हो जाती कि मेरे 4जी के सिग्नल यहां भी आ रहे हैं।”

सामने से लिया गया ये वीडियो सही है, पर पीछे से लिया गया शॉट, जिसमें
सामने से लिया गया ये वीडियो सही है, पर पीछे से लिया गया शॉट, जिसमें “अंदाज़ अपना अपना” दिख रहा है, झूठा है।

“ये तो थी वो कहानी, जिसे लोग टीवी पर देख रहे हैं, जबकि इसके पीछे की असल कहानी कुछ और है। एयरटेल के इस विज्ञापन से जुड़े कैमरामैन ने हमें उस घटना की सच्चाई बतायी।”

“कैमरामैन ने शुरु करते ही हंसते हुए कहा- आजकल के लड़के पहाड़ों में छुपकर ‘अंदाज़ अपना अपना’ देखते हैं क्या?”

“फिर उसने आगे कहा- असल में, वे बदमाश लड़के अपने मोबाइल पर अश्लील वीडियो देख रहे थे, तभी हमारी 4जी वाली मैडम अपने सिग्नल ढूंढती हुई वहां पहुंच गयीं। वहां पत्थरों के पीछे से ‘आह…ऊह…’ की आवाज़ें आ रही थीं। मैडम दबे पांव वहां पहुंची और उन लड़कों को सने रंगे हाथों पकड़ लिया।”

“मैडम ने उन लड़कों को धमकी दी कि जैसा मैं कहती हूं, वैसा ही करो, नहीं तो तुम्हारे मां-बाप को बता दूंगी कि तुम यहां पहाड़ों में क्या करते हो और ये वीडियो यूट्यूब पे भी डाल दूंगी।”

“तीनों लड़के जानते थे कि हमारी मैडम धरती, आकाश, पाताल कहीं भी पहुंच सकती हैं, इसलिये वे तुरंत उनकी बात मानने को राज़ी हो गये। इसके बाद मैडम ने उनसे बुलवाया कि ‘टू मच नहीं, 4जी है”।

“अंत में कैमरामैन ने कहा कि जितनी मेहनत हमारी मैडम सिग्नल ढूंढने में कर रही है, उससे आधी मेहनत में तो वो कोई नया देश भी ढूंढ लेतीं, वास्कोडिगामा की तरह!”

उधर, फ़ेकिंग न्यूज़ ने जब उस लड़की का पक्ष जानने के लिये उससे संपर्क करने की कोशिश की तो उसका फ़ोन ‘नॉट रीचेबल’ आता रहा क्योंकि अभी वो दिल्ली में है। जब वो कहीं दूर पहाड़ों में जायेगी तो शायद उसका फ़ोन लग जाये, इसलिये हम फ़ोन मिलाते रहेंगे।



ऐसी अन्य ख़बरें